पाताल से भी निकाल कर टीएमसी के गुंडों को भेजेंगे जेल : योगी आदित्यनाथ

0 3
पाताल से भी निकाल कर टीएमसी के गुंडों को भेजेंगे जेल : योगी आदित्यनाथ

ब्यूरो (विद्रोही आनन्द)
कोलकाता।
 इस दौरान उन्होंने कहा कि ममता दीदी इस समय इतनी नाराज हैं कि वो कह रही हैं कि जय श्रीराम बोलोगे तो जेल में डाल देंगे। चिढ़ बीजेपी से या हम से हो सकती है, राम से क्यों? राम से टकराने का जिसने भी दुस्साहस किया है उसकी दुर्गति हुई है, बंगाल में टीएमसी  की दुर्गति तय है। 2 मई को बंगाल को टीएमसी सरकार से मुक्ति मिलेगी। टीएमसी के गुंडों को कानून के शिकंजे में कसा जाएगा। ये तय है कि अपराधी को कांग्रेस, कम्युनिस्ट, टीएमसी जैसे दल संरक्षण जरूर देंगे लेकिन कानून के लंबे हाथ इन्हें पाताल से भी निकाल कर जेल के अंदर भेजने का काम करेंगे। पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यहां बीजेपी की सरकार होती तो यूरोप और स्विट्जरलैंड पर्यटन में आपसे कहीं पीछे छूट जाते, दार्जिलिंग पर्यटन में देश और दुनिया में नंबर एक पर होता। यहां के नौजवानों को दार्जिलिंग में ही रोजगार की सुविधा उपलब्ध हो जाती। बंगाल का चुनाव हमारे लिए मात्र सत्ता परिवर्तन का माध्यम नहीं है, ये बंगाल के अंदर हर क्षेत्र में खुशहाली और समृद्धि लाने का एक माध्यम भी है।

शाह ने रिक्शा चालक के घर किया भोजन
उधर, डोमजूर में केंद्रीय गृह मंत्री और बीजेपी नेता अमित शाह ने एक रिक्शा चालक जो बीजेपी समर्थक भी है, उनके आवास पर दोपहर का भोजन किया। निर्वाचन क्षेत्र से पार्टी के उम्मीदवार भी उपस्थित थे। शाह ने कहा कि मैं यहां बीजेपी के वरिष्ठ नेता राजीव बनर्जी का प्रचार करने आया हूं, एक ही पंचायत में मेरा दौरा हुआ। मुझे पूरा भरोसा है राजीव जी प्रचंड बहुमत से इस सीट पर कमल खिलाएंगे।  2 मई को जब मतगणना होगी तो पश्चिम बंगाल में 200 से ज्यादा सीटों के साथ बीजेपी की सरकार बनेगी। ममता बनर्जी की हताशा उनके भाषण में, वक्तव्य में और व्यवहार में उजागर हो रहा है। यह बता रहा है कि बीजेपी की जीत हो रही है।
वहीं, पश्चिम बंगाल के बीजेपी नेता दिलीप घोष ने कहा कि हिंसा को हम इतने सालों से झेल रहे हैं। हमसे ज्यादा हिंसा किसी ने नहीं देखी है लेकिन जो लोग हिंसा करते थे, आज वे हिंसा के ख़िलाफ़ बोल रहे हैं। उन्हें अब समझ आ गया है कि हिंसा नहीं होनी चाहिए। बंगाल में हिंसा से राजनीति और समाज का नुकसान हुआ है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.