अधूरी अधूरी तैयारियों के साथ 56 केंद्रों पर गेहूं की खरीद हुई शुरू

0 5

प्रयागराज। आधी अधूरी तैयारियों के बीच प्रयागराज के 56 केंद्रों पर गेहूं की खरीद शुरू हो गई है। इन केंद्रों पर किसानों का गेहूं 1975 रुपए प्रति कुंतल के हिसाब से खरीदा जाएगा। सभी केंद्रों पर कर्मचारी तैनात कर दिए गए हैं। कुछ कर्मचारियों की ड्यूटी चुनाव में लगे होने कारण कुछ केंद्र अभी नहीं खुले जा सके हैं। जिलेभर में कुल 76 क्षेत्र केंद्र खुलने है। बाकी केंद्रों को खोलने के लिए प्रक्रिया चल रही है।

गेहूं बेचने के लिए दिखाना होगा आधार कार्ड

गेहूं बेचने के लिए किसानों ने खाद्य रसद विभाग की वेबसाइट पर पंजीकरण करवा लिया है अब तक हजारों किसानों का पंजीकरण हो चुका है। केंद्र पर गेहूं बेचने के लिए जाने वाले किसान पंजीकरण नंबर लेकर जाएंगे साथ ही उनको अपना आधार कार्ड भी दिखाना होगा इस बार बिचौलियों से गेहूं की खरीद ना हो। इसलिए इलेक्ट्रॉनिक प्वाइंट ऑफ परचेज मशीन भी खरीदी गई है लेकिन अब तक वह मशीन जिले में नहीं आई है। मशीन के आने के बाद गेहूं बेचने वाले किसानों का उसमें अंगूठा लगवाया जाएगा। यह मशीन अब तक आ जानी चाहिए थी लेकिन इसे खरीदने में देरी हुई है। इसको लेकर डिप्टी आरएमओ विपिन कुमार ने बताया कि 15 अप्रैल तक ई पॉप मशीन आ जाएगी। उन्होंने कहा कि सेंटर पर आने वाले सभी किसानों का गेहूं खरीदा जाएगा। अगर कोई भी बिचौलिया गेहूं लेकर आया तो उसे खिलाफ कार्रवाई होगी।

इन केंद्रों पर होगी खरीद

फूलपुर, बहादुरपुर, जंघई, हंडिया, बहरिया, सैदाबाद, धनूपुर, सोरांव, मऊआइमा, कौड़िहार होलागढ़ मेजा रोड मेजा तहसील, उरुआ, मांडा, कोराव, लेडियारी, खीरी, जसरा, नारीबारी, करछना और कौंधियारा में विपणन शाखा के सेंटर है। गोतावा, उग्रसेनपुर, कस्तूरीपुर, नेवढ़िया, शुकुलपुर, सुरवल साहनी, अकौरिया, बरगढ़ी, कर्मा, कौंधियारा, कुकुड़ी और पीढ़ी साधन सहकारी समिति में खरीद होगी। एफसीआई ने फूलपुर, जसरा और करछना में खरीद केंद्र खोला है। सहसों, गारापुर, बिगहिया, जैतवारडीह , भुस्का, जारी कुलमई डांडी, मुंडेरा मंडी में भी विपणन शाखा के खरीद केंद्र हैं। जलालपुर, डीसीएफ चांदपुर, समोगर, लेडियारी, कपुरी, भारत नगर सहकारी समिति पर खरीद होगी। इसके अलावा यूपीएसएस के करनाईपुर, भीटी, साज़ी और सेमरिया केंद्रों पर गेहूं की खरीद 1975 प्रति कुंतल के हिसाब से की जाएगी.

Leave A Reply

Your email address will not be published.