उत्तर प्रदेश में 24 घंटों में मिले 22 नए कोरोना संक्रमित

सूबे में अब सक्रिय केस 400 से कम

0 3
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर पर प्रभावी नियंत्रण बना हुआ है। कोविड की ताजा स्थिति के मुताबिक प्रदेश के 16 जनपदों में एक्टिव केस शून्य हैं। जनपद अलीगढ़, औरैया, बदायूं, बिजनौर देवरिया, एटा, फर्रुखाबाद, फतेहपुर, गोंडा, हमीरपुर, हरदोई, कानपुर देहात, महोबा, संतकबीरनगर, शाहजहांपुर और उन्नाव में बुधवार कोविड का एक भी मरीज शेष नहीं है। यह जनपद बुधवार को कोविड संक्रमण से मुक्त हैं। औसतन हर दिन ढाई लाख टेस्ट हो रहें हैं, जबकि पॉजिटिविटी दर 0.01 बनी हुई है और रिकवरी दर 98.6 फीसदी है। विगत 24 घंटे में हुई टेस्टिंग में 59 जिलों में संक्रमण का एक भी नया केस नहीं पाया गया, जबकि मात्र 16 जनपदों में इकाई अंक में मरीज पाए गए। वर्तमान में प्रदेश में कुल एक्टिव कोविड केस की संख्या 345 है। यह अतिरिक्त सतर्कता और सावधानी बरतने का समय है। थोड़ी सी लापरवाही बड़ी समस्या का कारक बन सकती है।
ट्रेसिंग, टेस्टिंग और त्वरित ट्रीटमेंट के मंत्र से अच्छे परिणाम मिल रहे हैं। अब तक 07 करोड़ 10 लाख 73 हजार 105 कोविड सैम्पल की जांच की जा चुकी है। विगत 24 घंटे में 01 लाख 87 हजार 218 कोविड सैम्पल की जांच की गई और 22 नए मरीजों की पुष्टि हुई। इसी अवधि में 28 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए। अब तक 16 लाख 86 हजार 34 प्रदेशवासी कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं। इस स्थिति को और बेहतर करने के लिए ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट की नीति के अनुरूप सभी जरूरी प्रबंध किए जाएं।
सीएम योगी ने कहा कि लगातार प्रयासों से मेडिकल कॉलेजों/अस्पतालों को साधन संपन्न बनाया जा रहा है। सभी केंद्रों पर ऑक्सीजन कंसंट्रेटर सहित विभिन्न चिकित्सकीय उपकरण उपलब्ध कराए गए हैं। इन सभी का पूरा विवरण रखा जाए। स्वास्थ्य विभाग तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग के अस्पतालों/मेडिकल कॉलेजों में स्टॉक रजिस्टर मेंटेन रखें। यदि कोई उपकरण, भारत सरकार, राज्य सरकार अथवा सीएसआर के माध्यम से प्राप्त हुई हो, तो उसका भी विवरण रखें। सीएमओ इसका सत्यापन करें। वार्षिक ऑडिट भी हो। हर एक सरकारी सामान की उपलब्धता का पारदर्शिता पूर्ण विवरण रखा जाए।
कोरोना काल में हमारी आशा बहनों और आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों ने अपनी महती भूमिका का निर्वहन किया है। वास्तव में यह हमारे स्वास्थ्य सुरक्षा एवं परिवार कल्याण कार्यक्रमों की रीढ़ हैं। राज्य सरकार ने इन कार्मिकों के मानदेय में वृद्धि का निर्णय लिया है। इनके बढ़े हुए मानदेय के अनुरूप भुगतान तत्काल सुनिश्चित कराया जाए।
प्रदेश के विभिन्न नगरीय व कस्बाई क्षेत्रों में अवैध रूप से पार्किंग स्टैंड संचालन की सूचनाएं मिल रही हैं। यह स्थिति उचित नहीं है। प्रत्येक दशा में इन गतिविधियों पर रोक लगाई जाए। कहीं भी बिना वैध लाइसेंस धारक के किसी अन्य द्वारा पार्किंग स्टैंड के नाम पर वसूली न हो। अन्यथा की स्थिति में सम्बंधित ईओ अथवा अपर मुख्य अधिकारी की जवाबदेही तय की जाएगी।
प्रदेश में विश्वस्तरीय फ़िल्म सिटी के विकास के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। इस संबंध में तेजी के साथ कार्य किये जाएं। उत्तर प्रदेश की फ़िल्म सिटी देश और दुनिया के फिल्मकारों/कलाकारों की पहली पसंद बनेगी।
कोविड के खिलाफ लड़ाई में टीके की महत्ता स्वयं सिद्ध है। इसके दृष्टिगत, प्रदेशवासियों को टीका-कवर उपलब्ध कराने की प्रक्रिया सुचारु रूप से चल रही है।  उत्तर प्रदेश में कोविड वैक्सीनेशन का आंकड़ा 06 करोड़ 52 लाख 23 हजार के पार हो चुका है। विगत दिवस 9 लाख 76 हजार 703 लोगों ने टीका-कवर प्राप्त किया। अब तक 05 करोड़ 48 लाख से अधिक नागरिकों ने कोविड से बचाव के लिए टीके की कम से कम एक खुराक प्राप्त कर ली है। यह देश के किसी एक राज्य में हुआ सर्वाधिक टीकाकरण है। टीके की सुचारू आपूर्ति के लिए भारत सरकार से सतत संवाद बनाया जाए।

Attachments area
Leave A Reply

Your email address will not be published.