30 अप्रैल तक ही चलेगा हरिद्वार कुंभ मेला

0 4

30 अप्रैल तक ही चलेगा हरिद्वार कुंभ मेला

ब्यूरो (विद्रोही आनन्द)
हरिद्वार। 
कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच उत्तराखंड सरकार ने हरिद्वार कुंभ मेले की अवधि को घटाने से इनकार कर दिया है। सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया कि मेला अवधि घटाने पर अभी कोई विचार नहीं है, न ही ऐसा कोई प्रस्ताव राज्य सरकार ने केंद्र को भेजा है, कुंभ 30 अप्रैल अपनी समय सीमा पर ही समाप्त होगा।
दरअसल, हरिद्वार में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. तीसरे शाही स्नान के दौरान भी कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ाई गईं। अधिकतर लोग बिना मास्क के दिखाई दिए, जबकि पूरे हरिद्वार में कहीं भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करता हुआ कोई नहीं दिखाई दिया। इस वजह से हरिद्वार में कोरोना विस्फोट हुआ है।
हरिद्वार में कुंभ मेले में कोरोना गाइडलाइंस के घोर उल्लंघन का असर अब दिखने लगा है। पिछले 72 घंटे में अकेले 1,527 पॉजिटिव केस सिर्फ हरिद्वार के मेला क्षेत्र से ही सामने आए हैं और कई लोगों की जान गई है। कोरोना मरीजों की संख्या अभी और बढ़ने की उम्मीद है क्योंकि बड़ी संख्या में कोरोना रिपोर्ट आना बाकी है।
हरिद्वार के डीएम और कुंभ मेला अधिकारी दीपक रावत ने कहा कि कुंभ मेला जनवरी में शुरू होने वाला था। लेकिन कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए, राज्य सरकार ने अप्रैल में शुरू करने का फैसला किया है। अगर हम केंद्र के दिशानिर्देशों को मानें तो उनका कहना है कि स्थिति के मद्देनजर कुंभ मेले की अवधि को कम किया जाना चाहिए। लेकिन मुझे फिलहाल ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली है, अगर कुंभ मेला बंद हो रहा है तो।
उधर, अखिल भारतीय निर्वाणी आणि के 65 वर्षीय कोरोना संक्रमित महामंडलेश्वर की देहरादून के निजी अस्पताल में मौत होने से हड़कंप मच गया है। महामंडलेश्वर चित्रकूट के रहने वाले थे और हरिद्वार कुंभ में आए थे। उनकी कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। गुरुवार को देहरादून के एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान उनका निधन हो गया। 12 अप्रैल को सांस में तकलीफ और बुखार की शिकायत के चलते महामंडलेश्वर को देहरादून के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। महामंडलेश्वर की मौत से बैरागी संतों की छावनी में हड़कंप मच गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.