टेलीकॉम विभाग- अगले 2-3 महीने में शुरू होगा 5G ट्रायल, एयरटेल ने कहा लगेंगे 2-3 साल

0 7

डेस्क: टेलीकॉम विभाग (DoT) को 5G फील्ड ट्रायल के लिए 16 आवेदन मिले हैं। अगले दो-तीन महीने में 5G टेक्नोलॉजी का ट्रायल शुरू हो सकता है। टेलीकॉम विभाग ने संसद की स्थायी समिति को यह जानकारी दी है।

टेलीकॉम विभाग का यह बयान तब सामने आया जब संसद की स्थायी समिति की सोमवार को पेश रिपोर्ट में 5G सेवा शुरू होने में देरी के लिए टेलीकॉम विभाग की खिंचाई की। इसमें कहा गया है कि कई देशों में 5G नेटवर्क पर आधारित सेवाएं शुरू हो चुकी हैं। भारत में देरी क्यों हो रही है।

समिति ने पूछा था कि 5G ट्रायल के लिए अब तक स्पेक्ट्रम की अनुमति क्यों नहीं दी गई है। टेलीकॉम विभाग ने जब यह कहा है कि देश में ट्रायल शुरू होने में कोई बड़ी दिक्कत नहीं है तो अब तक इसकी शुरुआत क्यों नहीं हो पाई है।

5G सर्विस शुरू होने में देरी हो सकती है- संसद की स्थायी समिति
तैयारी में कमी, स्पेक्ट्रम से संबंधित मसले, यूज केस डेवलपमेंट की कमी, 5G सर्विसेस के लिए स्पेक्ट्रम की बिक्री को लेकर अनिश्चितता जैसी समस्याओं के चलते देश में 5G सेवाओं की शुरुआत में विलंब हो सकता है। आईटी मामलों पर संसद की स्थायी समिति ने अपनी रिपोर्ट में यह आशंका जताई है।

1 मार्च को होनी है स्पेक्ट्रम की नीलामी
दूरसंचार मंत्रालय ने 1 मार्च 2021 से रेडियो तरंगों की नीलामी की घोषणा कर रखी है। इसमें 3.92 लाख करोड़ रुपए के स्पेक्ट्रम की नीलामी की जाएगी। इसमें 5G सर्विसेस के लिए अपेक्षित बैंड के स्पेक्ट्रम शामिल नहीं हैं। समिति को बताया गया कि 5G सर्विसेस की शुरुआत 2021 के आखिर या 2022 के शुरू में हो जाएगी। शुरुआत में यह कुछ खास मकसद के लिए ही होगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.