बंगाल को दीदी की नीयत पर भी शक : मोदी

0 1

बंगाल को दीदी की नीयत पर भी शक : मोदी
ब्यूरो (विद्रोही आनन्द)
गंगारामपुर (दक्षिण दिनाजपुर)/आसनसोल। 
पश्चिम बंगाल में जहां पांचवें चरण का मतदान चल रहा है तो वहीं छठवें चरण को लेकर चुनाव प्रचार जोरों पर है। बंगाल में छठवें चरण में बीजेपी की जीत सुनिश्चित करने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी लगातार रैली कर रहे हैं। शनिवार को पश्चिम बंगाल के दक्षिण दिनाजपुर जिले के गंगारामपुर और पश्चिम बंगाल के आसनसोल में पीएम मोदी ने रैली की। इस दौरान मोदी ने कहा कि दीदी की गालियों से मुझे कोई दिक्कत नहीं है। दीदी, आप मुझे जितना कोसना है कोसिए, जितनी गाली देनी हो दीजिए, लेकिन कम से कम बंगाल के कल्चर को तो मत भूलिए। देश की जनता, बंगाल की समृद्ध विरासत, यहां के लोगों की वाणी-वर्तन पर गर्व करती है। पीएम ने कहा कि पश्चिम बंगाल में दीदी के करीबी ने एससी वर्ग के लिए भिखारी का उपयोग किया है। ये बाबा साहेब अंबेडकर, हरिचंद्र ठाकुर, जोगेन्द्रनाथ मंडल जैसी पुण्य आत्माओं के जीवन संघर्ष का बहुत बड़ा अपमान है। बीजेपी हर बहन-बेटी, चाहे वो किसी भी मत-संप्रदाय की हो, सबकी सुरक्षा, सबका सम्मान और सबको अवसर देने के लिए काम करती है। तीन तलाक के खिलाफ कानून बनाकर बीजेपी ने लाखों मुस्लिम बहनों के जीवन की सबसे बड़ी चिंता दूर की है। आज जब हम हर महीने करोड़ों रुपए की काली कमाई की बात सुनते हैं तो पता चलता है कि दीदी ने किस तरह अपना सारा ध्यान भाइपो के ही विकास पर लगाया। जब इस दुर्नीति के विरुद्ध मैं सवाल उठाता हूं तो दीदी मुझे गाली देती हैं। कहती हैं, मोदी से कान पकड़वाकर उठक-बैठक करवाएंगी। दीदी की सरकार ने पश्चिम बंगाल के हर युवा बेटे-बेटी की अकांक्षाओं का दमन किया है। दीदी ने भाईपो की आकांक्षाओं  और करियर के लिए बंगाल के लाखों युवाओं को भविष्य दांव पर लगा दिया। दीदी को मां गंगा और श्री राम, इन दोनों नामों से ही घृणा है। दीदी गंगा के किनारे बसे भारतीयों को गाली देती हैं, उनकी आस्था, भाषा, पहनावे का अपमान करती हैं। किसी की दुखद मृत्यु पर, दीदी की संवेदना भी वोटबैंक का फिल्टर लगाकर ही प्रकट होती है। दीदी, पश्चिम बंगाल आपकी दुर्नीति से ही परेशान नहीं है, बल्कि बंगाल को आपकी नीयत पर भी शक है। दीदी की आंखों पर अहंकार का पर्दा चढ़ा हुआ है। दीदी की राजनीति सिर्फ विरोध और गतिरोध तक सीमित नहीं है बल्कि दीदी की राजनीति प्रतिशोध की खतरनाक सीमा को भी पार कर गई है। बीते 10 साल में बीजेपी के अनेक कार्यकर्ताओं की हत्या की गई है।
कूचबिहार में जो हुआ, उस पर कल एक ऑडियो टेप आपने सुना होगा। 5 लोगों की दुखद मृत्यु के बाद दीदी किस तरह राजनीति कर रही हैं, ये इस ऑडियो से सामने आता है। इस ऑडियो में कूचबिहार के टीएमसी नेता को कहा जा रहा है कि मारे गए लोगों के शवों के साथ रैली करो। दीदी, वोटबैंक के लिए कहां तक जाएंगी आप? सच्चाई ये है कि दीदी ने कूचबिहार में मारे गए लोगों की मृत्यु से भी अपना सियासी फायदा करने की सोची। शवों पर राजनीति करने की दीदी को बहुत पुरानी आदत है।
कोरोना पर पिछली दो बैठकों में बाकी मुख्यमंत्री आए, लेकिन दीदी नहीं आईं। नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल में बाकी मुख्यमंत्री आए, लेकिन दीदी नहीं आईं। मां गंगा की सफाई के लिए देश में इतना बड़ा अभियान शुरू हुआ लेकिन दीदी उससे संबंधित बैठक में भी नहीं आईं।
दीदी ने बीते 10 सालों में विकास के नाम पर आपके साथ विश्वासघात किया है, दीदी विकास के हर काम में दीवार बनके खड़ी हो गईं। केंद्र सरकार ने 5 लाख के मुफ़्त इलाज की सुविधा दी तो दीदी दीवार बन गईं, केंद्र ने शरणार्थियों की मदद के लिए कानून बनाया तो दीदी इसका भी विरोध करने लगीं। कूचबिहार में जो हुआ, उस पर कल एक ऑडियो टेप आपने सुना होगा। 5 लोगों की दुखद मृत्यु के बाद दीदी किस तरह राजनीति कर रही हैं, ये इस ऑडियो से सामने आता है। इस ऑडियो में कूचबिहार के टीएमसी नेता को कहा जा रहा है कि मारे गए लोगों के शवों के साथ रैली करो।
दीदी ने बीते 10 सालों में विकास के नाम पर आपके साथ विश्वासघात किया है, दीदी विकास के हर काम में दीवार बनके खड़ी हो गईं। केंद्र सरकार ने 5 लाख के मुफ़्त इलाज की सुविधा दी तो दीदी दीवार बन गईं, केंद्र ने शरणार्थियों की मदद के लिए कानून बनाया तो दीदी इसका भी विरोध करने लगीं।
बंगाल में जो सरकारें रहीं, उनके कुशासन ने आसनसोल को कहां से कहां पहुंचा दिया। जहां लोग चाकरी के लिए आते थे, आज यहां से लोग पलायन हो रहे हैं। मां-माटी-मानुष की बात करने वाली दीदी ने यहां हर तरफ माफिया राज पहुंचा दिया है। इस चुनाव में आपका एक वोट सिर्फ टीएमसी को साफ नहीं करेगा बल्कि आपका एक वोट यहां से माफिया राज को भी साफ करेगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.