उत्तर प्रदेश विधानमंडल का बजट सत्र राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान विपक्ष का हंगामा

0 7

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश विधानमंडल का बजट सत्र गुरुवार को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के अभिभाषण से शुरू हुआ। इस दौरान समाजवादी पार्टी के विधायकों ने वेल में आकर जमकर हंगामा किया। नारेबाजी करते हुए सपा विधायकों ने पोस्टर लहराया है। वहीं, कांग्रेस और बसपा विधायकों ने अभिभाषण का विरोध करते हुए सदन से वॉकआउट किया। बता दें कि इस बार योगी सरकार पेपरलेस बजट पेश करेगी। यूपी का बजट सत्र 10 मार्च तक चलेगा। उत्तर प्रदेश विधानमंडल का बजट सत्र शुक्रवार 11 बजे तक स्थगित कर दिया गया। वहीं यूपी का बजट 22 फरवरी को आएगा।

 इससे पहले किसान समस्याओं व महंगाई के मुद्दे पर योगी सरकार को घेरने के लिए समाजवादी पार्टी के नेता ट्रैक्टर लेकर विधान भवन पहुंचे और जमकर नारेबाजी की। सपा नेताओं ने विधान भवन में चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के नीचे बैठकर प्रदर्शन किया। वहीं, सपा एमएलसी राजेश यादव समेत तीन नेताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया। सदन में बहुजन समाज पार्टी के सात बागी विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष से मुलाकात की और अपने बैठने के स्थान के बारे में जानकारी प्राप्त की। बसपा के नौ विधायकों ने अलग बैठने की मांग की।  बसपा के पास अब सिर्फ छह विधायक बचे हैं।

राज्यपाल का अभिभाषण देर से शुरू हुआ

सदन में राज्यपाल का अभिभाषण देर से शुरू हुआ। सभी विपक्ष की पार्टियां इसको मुद्दा भी बनाया । 11 बजे अभिभाषण शुरू होना था। जबकि 11.05 पर राष्ट्रगान और 11.07 पर अभिभाषण शुरू हुआ। सपा, बसपा और कांग्रेस ने यूपी विधानसभा में देरी से शुरू हुए राज्यपाल का अभिभाषण पर प्रदेश सरकार की जमकर आलोचना की। कांग्रेस ने राज्यपाल के अभिभाषण पर विरोध दर्ज किया। पार्टी ने कहा कि इतिहास में पहली बार राज्यपाल का अभिभाषण सदन में देरी से शुरू हुआ है। सरकार अपने हर निर्णय में गंभीरता खो चुकी है। कांग्रेस के बाद बसपा और सपा ने भी राज्यपाल के अभिभाषण का विरोध किया।

कानून- व्यवस्था बर्बाद हो चुकी : सपा

राज्यपाल के अभिभाषण का बहिष्कार करने वाले नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने कहा कि प्रदेश की कानून-व्यवस्था बर्बाद हो चुकी है। यहां पर महिलाओं के खिलाफ अत्याचार बढ़ रहा है। प्रदेश में तो में जंगलराज है। उन्नाव की घटना पर सरकार मौन क्यों है। प्रेस को बैन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्यपाल आनंदीबेन पटेल तो अभिभाषण नहीं पढऩा चाहती थीं। मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष ने उनको मनाया है। समाजवादी पार्टी के एमएलसी राजेंद्र चौधरी ने कहा कि हम लोग राज्यपाल के अभिभाषण का बहिष्कार करते हैं।
हम यहां पर सरकार का भाषण सुनने नहीं आए हैं। राज्यपाल तो सरकार का भाषण सुना रहीं हैं। कांग्रेस विधायक दल की नेता आराधना मिश्रा ने कहा कि उन्नाव की घटना पर सरकार मौन है। वहां पर दो युवतियों की मौत पर पुलिस लीपापोती कर रही। हम लोग राज्यपाल के अभिभाषण का विरोध करते हैं।

पेट्रोल- डीजल लेकर पहुंचे सपा नेता

विधानमंडल सत्र में राज्यपाल के अभिभाषण से पहले ही बड़ी संख्या में समाजवादी पार्टी के विधायक तथा विधान परिषद सदस्य ने विधान भवन प्रांगण में हंगामा किया। सपा नेताओं ने चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के पास बैठकर सरकार विरोधी नारेबाजी की। पेट्रोल तथा डीजल के दाम में लगातार बढ़ोतरी के साथ ही कानून-व्यवस्था को लेकर नारेबाजी की। विधान भवन जैसे संवेदनशील स्थान पर सपा नेता तमाम सुरक्षा इंतजाम को धता बता बोतलों में पेट्रोल तथा डीजल लेकर प्रवेश कर गए। इस दौरान इन लोगों ने पेट्रोल तथा डीजल से भरी बोतलों के साथ प्रदर्शन किया।
किसान आंदोलन के समर्थन में समाजवादी पार्टी के विधायक ट्रैक्टर पर गन्ना लेकर विधान भवन पहुंचे। विधान परिषद सदस्य सुनील सिंह साजन तथा आनंद भदौरिया की इस दौरान सड़क पर काफी देर तक पुलिस से झड़प भी होती रही। इस दौरान विधानसभा मार्ग पर यातायात को रोक दिया गया।

काग्रेसियों ने भी किया प्रदर्शन

सपा विधायक तथा विधान परिषद सदस्यों के बाद कांग्रेस के नेता भी विधान भवन प्रांगण में योगी आदित्यनाथ सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करने लगे। नेता विधानमंडल दल अराधना मिश्रा ‘मोना’ के साथ विधान परिषद सदस्य दीपक सिंह ने भी मंहगाई, कृषि कानून तथा उत्तर प्रदेश की खराब कानून-व्यवस्था को लेकर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। बढ़ती महंगाई, बढ़ते अपराध, कृषि कानून, पेट्रोल – डीज़ल के बढ़ते दाम व अन्य कई मुद्दों पर विरोध प्रदर्शन किया।

क्या बोलीं राज्यपाल आनंदीबेन पटेल

बजट सत्र के दौरान राज्यपाल ने सरकार की उपलब्धियां गिनाईं। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में सरकार ने शानदार काम किया है। अभिभाषण के साथ ही विधानसभा की कार्यवाही शुरू हुई।  राज्यपाल ने अपने अभिभाषण की शुरुआत में प्रदेशवासियों ने नए साल की शुभकामनाएं दी। इसके बाद उन्होंने सदन के दिवंगत सदस्यों को श्रद्धांजलि दी।
राज्यपाल ने कहा कि कोरोना महामारी ने पूरे विश्व को प्रभावित किया है। हमारा देश व प्रदेश भी महामारी की चपेट में आया। किंतु पीएम मोदी के मार्गदर्शन में यूपी सरकार ने कोरोना संकट काल में दृढ़ इच्छा शक्ति, परिपक्वता, संवेदनशीलता के साथ कोरोना संक्रमण को प्रभावित होने से सफलता हासिल की है जिसकी सराहना पीएम मोदी व डब्ल्यूएचओ भी कर चुका है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में कोरोना जांच के लिए सार्वजनिक क्षेत्र में 125 लैब और निजी क्षेत्र में 104 लैब क्रियाशील हैं।

कोरोना महामारी ने पूरे विश्व को प्रभावित

कोविड जांच की क्षमता को शून्य से 2 लाख प्रतिदिन पहुंचाने, कोरोना मरीजों के लिए डेढ़ लाख से अधिक बेड और हर जिले में आईसीयू की स्थापना, हेल्थ सेक्टर को सुदृढ़ बनाने और कोरोना प्रबंध में सरकार ने जो काम किया है उसकी राष्ट्र और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सराहना की गई है। सरकार ने कोरोना काल मे प्रधानमंत्री के कर कमलों द्वारा और साधु-संतों की उपस्थिति में अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर निर्माण का शुभारंभ संपन्न किया, जिसकी सभी ने प्रशंसा की। मैं प्रधानमंत्री और देश की न्यायपालिका की आभारी हूं।
मुझे खुशी हो रही है कि इस साल गणतंत्र दिवस के अवसर पर अयोध्या की झांकी को पहला स्थान मिला है। अयोध्या में तीन दिवसीय और वाराणसी में देव दिपावली के अवसर पर भव्य दीपोत्वस का आयोजन भी सफलता पूर्वक किया गया है।

ईज ऑफ डूइंग में यूपी का दूसरा स्थान

राज्यपाल ने कहा कि सरकार प्रदेश की नई औद्योगिक निवेश और रोजगार की नीति के अंतर्गत स्टार्ट अप, युवा उद्यम का नवाचार और मेक इन यूपी को बढ़ावा दे रही है।. निवेश को आकर्षित करने की प्रतिबद्धता, कानून व्यवस्था में लगातार सुधार तथा कई सुविधाएं प्रदान किए जाने के बाद यूपी ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में देश में दूसरे स्थान पर आ गया है।

कई एक्सप्रेस वे का निर्माण कार्य जारी

राज्यपाल ने कहा कि प्रदेश में पूर्वांचल एक्सप्रेस वे और बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का निर्माण तेजी से पूरा हो रहा है. पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का निर्माण यूपीडा के माध्यम से कराया जा रहा है जिसकी लंबाई लगभग 340 किमी है। इस एक्सप्रेस वे पर आपात स्थिति में वायु सेना के लड़ाकू विमानों की लैंडिंग के लिए हवाई पट्टी का निर्माण किया जा रहा है। लगभग 296 किमी लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का निर्माण कार्य निर्धारित लक्ष्य के अनुसार चल रहा है। इसके अलावा गोरखपुर को पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से जोड़ने के लिए गोरखपुर लिंकेज एक्सप्रेस वे का निर्माण सफलता पूर्वक चल रहा है।
मेरठ से प्रयागराज तक गंगा एक्सप्रेस वे का निर्माण भी शुरू होने जा रहा है।प्रदेश में हवाई कनेक्टिविटी को बढ़ावा देने किए लगातार कोशिशें की जा रही हैं। जेवर में विश्व स्तरीय एयरपोर्ट का विकास किया जा रहा है। कुशीनगर एयरपोर्ट अंतरराष्ट्रीय उड़ानो के लिए लगभग तैयार हो चुका है।

पेपरलेस बजट के लिए विधायकों का हो चुका है प्रशिक्षण

यह बजट सत्र 10 मार्च तक चलेगा। 19 फरवरी को केंद्र की मोदी सरकार की तरह उत्तर प्रदेश की योगी सरकार भी इस बार अपना पेपरलेस बजट पेश करेगी। इसके लिए सभी विधायकों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य की विधानसभा और विधान परिषद के आगामी सत्रों को डिजिटल रूप दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस बार ई-बजट पेश होगा।
Leave A Reply

Your email address will not be published.