मुख्य साजिशकर्ता प्रदीप सिंह कबूतरा ने आजमगढ़ कोर्ट में किया सरेंडर

0 103

मुख्य साजिशकर्ता प्रदीप सिंह कबूतरा ने आजमगढ़ कोर्ट में किया सरेंडर

आजमगढ़। 
गैंगस्टर व मऊ के ज्येष्ठ ब्लाक प्रमुख रहे अजीत सिंह मर्डर का आरोपित प्रदीप सिंह कबूतरा ने शनिवार को एससी-एसटी कोर्ट में सरेंडर कर दिया। कोरोना संक्रमण के कारण कोर्ट बंद होने से पुलिस की निगरानी कमजोर पड़ गई थी। शातिर बदमाश ने इसी का फायदा उठाते हुए कोर्ट में सरेंडर कर दिया। हालांकि, उसके सरेंडर करने के पीछे पुलिस की विशेष दस्ता (स्वाट टीम) का साए की तरह पीछा करना अहम माना जा रहा है।
तरवां थाना क्षेत्र के कबूतरा गांव का प्रदीप सिंह जरायम जगत में जाना-पहचाना नाम है। कबूतरा गांव का होने के कारण उसे जरायम जगत में मूल नाम से ज्यादा कबूतरा के रूप में जाना जाने लगा। लखनऊ में अजीत मर्डर में पुलिस ने छह जनवरी को ध्रुव कुमार सिंह उर्फ कुंटू सिंह, अखंड सिंह व गिरधारी विश्वकर्मा के खिलाफ नामजद एवं तीन अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की थी। केस की छानबीन में प्रदीप सिंह उर्फ कबूतरा का नाम हत्या का षड्यंत्र रचने में सामने आया। उसके बाद तो आजमगढ़ की तरवां पुलिस अलर्ट हो गई। दरअसल, प्रदीप सिंह का गांव कबूतरा तरवां थाना क्षेत्र में ही पड़ता है। क्राइम ब्रांच की स्वाट टीम तो साए की तहर पीछे पड़ गई थी। वारदात के बाद तो लखनऊ की स्वाट टीम ने भी उसके घर की निगरानी बढ़ा दी थी। उसकी गिरफ्तारी के लिए मुखबिरों का जाल बिछ गया, लेकिन तीन माह से ज्यादा समय होने के बावजूद उसका सुराग नहीं लगने पर तरवां पुलिस व स्वाट टीम ने स्वजनों पर दबाव बनाना शुरू किया। आए दिन घर में दबिश दी जाने लगी तो बदमाश टूट गया और उसने कोर्ट में सरेंडर कर दिया। हालांकि, उसने कोर्ट बंद होने के दौरान सरेंडर करने की रणनीति बनाई, जिसकी भनक तक पुलिस को नहीं लग सकी। तरवां इंस्पेक्टर स्वतंत्र कुमार सिंह ने बताया कि प्रदीप एक ट्रक शराब की बरामदगी में हमारे यहां से भी वांछित था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.