सीएम योगी, बोले- नई संभावनाओं को उड़ान देगा बजट

0 2
लखनऊ। यूपी सरकार ने सोमवार अपना पांचवां व पूर्ण बजट सत्र 2021-22 के लिए पेश कर दिया। इस सत्र का कुल बजट 5 लाख 50 हजार 270 करोड़ रुपए है। पिछले साल के बजट से  इस साल का बजट तुलना में 38 हजार करोड़ रुपए ज्यादा है। बजट पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह बजट नई संभावनाओं को उड़ान देने वाला साबित होगा। यह बजट सभी वर्गों के विकास के लिए है। हमारा हर घर को नल और हर हाथ को काम देने का संकल्प है।

सीएम योगी ने दी वित्त मंत्री सुरेश खन्ना को बधाई

सीएम योगी ने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश के ही नहीं बल्कि देश के किसी भी राज्य के पहले पेपरलेस बजट के लिए प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना और उनकी पूरी टीम का मैं दिल से अभिनंदन करता हूं। मुझे खुशी है कि आज से हमारी कैबिनेट भी ई-कैबिनेट हो गई है। बजट से पहले ई-कैबिनेट की बैठक आयोजित हुई थी

सीएम के प्रेस कांफ्रेंस की पांच बड़ी बातें

सीएम योगी ने विधानसभा में बजट पेश होने के बाद प्रेस कांफ्रेंस करते हुए बजट की बजट के सार के बारे में बता की।

  • इस बार का बजट 5,50,270.78 करोड़ रुपए का है, ये 2020-21 के बजट से 7.3% अधिक है। हर गांव को सड़क, हर गांव को डिजिटल और हर घर में नल पहुंचाया जाएगा। महिलाओं के लिए भी नई योजनाएं शुरू की गई है। महिला समार्थ्य योजना व मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना की शुरुआत की गई है।
  • अभ्युदय कोचिंग योजना के अंतर्गत टेबलेट भी देने का काम सरकार करेगी। इसका प्रावधान बजट में कर दिया गया है।
  • बजट में प्रदेश के अंदर खेल कूद के प्रोत्साहन देने की भी की व्यवस्था बजट में की गई है। जिस मंडल पर राज्य विश्वविद्यालय नही है वहां राज्य विश्वविद्यालय का निर्माण किया जाएगा। हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए भी बजट में बड़ी व्यवस्था की गई है।
  • प्रदेश सरकार असंगठित क्षेत्र के लोगों का रजिस्ट्रेशन कराएगी। 5 लाख का स्वास्थ्य कवर भी सरकार देगी। प्रदेश में व्यापारी का भी रेजिस्ट्रेशन होगा। जिसमें व्यापारी के साथ दुर्घटना होने की दशा में 10 लाख का बीमा कवर दिया गया। पुणे की नेशनल लैब की तर्ज पर प्रदेश में भी एक संस्थान का लखनऊ में बनेगा।
  • एक्सप्रेस वे पर लगातार काम हो रहा है। गंगा एक्सप्रेस के लिए जमीन अधिग्रहण के लिए बजट की व्यवस्था की गई है। गावों को सड़क से जोड़ने के लिए बजट में व्यवस्था की गई है। एयर कनेक्टिविटी को भी उत्तर प्रदेश सरकार बड़े स्तर पर बढ़ा रही है।
  • वित्त वर्ष 2021-22 में आबकारी विभाग से 41500 करोड़ रुपए के राजस्व प्राप्ति का लक्ष्य रखा गया है। जेवर में एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट बन रहा है। कुशीनगर में भी इंटरनेशनल एयरपोर्ट बन रहा है। प्रदेश में पुलिस के लिए भी इंफ्रास्ट्रक्चर की व्यवस्था की गई है।
Leave A Reply

Your email address will not be published.