रक्षा क्षेत्र में होने वाले खर्च को लेकर क्या है मंत्रालय की योजना ?

0 5

नई दिल्ली : भारत के रक्षा क्षेत्र और 2021-22 के बजट की घोषणाओं पर सोमवार को एक वेबिनार के दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा रक्षा बजट में पिछले वर्ष की तुलना में 18.75% की अभूतपूर्व वृद्धि हुई है. उन्होंने बताया कि हमारे मंत्रालय ने 2021-22 में रक्षा क्षेत्र में होने वाले खर्च के 63% को घरेलू खरीद पर खर्च करने की योजना बनाई है जो क़रीब 70,221 करोड़ रुपये है.

उन्होंने कहा रक्षा मंत्रालय का लक्ष्य है कि वर्ष 2024 तक एयरोस्पेस और रक्षा वस्तुओं और सेवाओं में रु 35,000 करोड़ (US $ 5 Bn) के निर्यात सहित 1,75,000 करोड़ (US $ 25 Bn) का टर्नओवर हासिल करना है. मंत्रालय पूंजी अधिग्रहण की समयसीमा में देरी को कम करने पर भी काम कर रहा है. हम औसत अधिग्रहण को मौजूदा 3-4 वर्षों के बजाय 2 साल के भीतर रक्षा अधिग्रहण पूरा करने के प्रयास करेंगे.

उन्होंने कहा कि पिछले 6 वर्षों में भारत सरकार कई सुधार लेकर आई हैं. विदेशी ओईएम (Foreign OEMs) को प्रोत्साहित करने, भारत में विनिर्माण इकाइयां स्थापित करने, संयुक्त उद्यम विकसित करने और रक्षा क्षेत्र में निजी भागीदारी को बढ़ावा देने के लिए ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ (Ease of Doing Business) पर सरकार का स्पष्ट ध्यान केंद्रित है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.