डीएम ने अनुपस्थित अधिकारियों का वेतन रोकने के निर्देश दिए

0 0

आजमगढ़। डीएम राजेश कुमार की अध्यक्षता में आज कलेक्ट्रेट सभागार में शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता वाले कार्यक्रमों की माह जुलाई 2021 तक हुई उपलब्धियों की विस्तृत समीक्षा की गई।

जिलाधिकारी ने विभागीय कार्यक्रमों/योजनाओं से संबंधित अद्यतन प्रगति की समीक्षा करते हुए विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि निर्माण कार्य गुणवत्तायुक्त एवं निर्धारित समय के अंदर पूर्ण किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्य की गुणवत्ता में कोई समझौता नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों की जांच कराने पर यदि गुणवत्ता में कमी पाई गई तो संबंधित अधिकारियों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

जिलाधिकारी ने जांच के लिए नामित अधिकारियों को निर्देश दिए कि निर्माण कार्यों की जांच 01 हफ्ते के अंदर किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि यदि जांच रिपोर्ट गलत पाई गई तो संबंधित के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जाएगी। जिलाधिकारी ने कहा कि जांच से संबंधित अभिलेख उपलब्ध न कराने पर संबंधित अधिकारी के विरुद्ध निलंबन की कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। श्री राजेश कुमार ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि निर्धारित समय सीमा के अंदर पूरी तत्परता एवं बारीकी से जांच किया जाना सुनिश्चित करें।

जिलाधिकारी ने जिला प्रोबेशन अधिकारी को निर्देश दिया कि मिशन शक्ति-3.0 अभियान के अंतर्गत शहरी में ग्रामीण स्तर की महिलाओं के लिए जागरूकता अभियान चलाया जाए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर पर महिलाओं की शिकायत के लिए एक रजिस्टर रखा जाए, जिसमें उनका पूरा रिकॉर्ड मेंटेन रखें। उन्होंने कहा कि हफ्ते में कोई एक दिन निर्धारित करें, ताकि उस दिन महिलाएं आकर अपनी शिकायत दर्ज करा सकें। उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग से समन्वय स्थापित कर सभी पंचायत भवन में एक महिला सिपाही की भी तैनाती सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक गांव के पंचायत भवन के बाहर एक पोस्टर पर महिला हेल्पलाइन से संबंधित नंबर दर्ज कराएं।

जिलाधिकारी ने जिला पंचायत राज अधिकारी को ग्रामीण क्षेत्रों की लगातार सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक ग्राम सभा में एक उपस्थिति पंजिका भी रखा जाए, जिसमें प्रत्येक दिन की उपस्थिति दर्ज करना अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि उपस्थिति पंजिका का लगातार निरीक्षण भी सुनिश्चित किया जाए।

जिलाधिकारी ने कृषि एवं सिंचाई विभाग की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि नहरों में पानी, यूरिया एवं उर्वरकों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि किसानों को फसल बीमा योजना एवं किसान क्रेडिट कार्ड का शत प्रतिशत लाभ दिया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कृषि विभाग के अधिकारियों को तत्काल सोलर बॉक्स लगाए जाने के लक्ष्य को पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि किसानों को सरकार द्वारा दी जा रही योजनाओं का लाभ उठाने के लिए प्रोत्साहित करें।

जिलाधिकारी ने गौशालाओं में निराश्रित पशुओं की संख्या में वृद्धि एवं उनके खाने-पीने की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि 01 हफ्ते के अंदर पशुओं का टीकाकरण एवं जियो टैगिंग किया जाना सुनिश्चित करें।

जिलाधिकारी ने प्रधानमंत्री आवास योजना एवं मुख्यमंत्री आवास योजना की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि अगले महीने तक शत-प्रतिशत लक्ष्य को पूर्ण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जो काम 60 प्रतिशत पूर्ण हो गए हैं, उन्हें इसी महीने में पूर्ण किया जाना सुनिश्चित करें, ताकि जियो टैगिंग भी की जा सके। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों का ब्लॉक स्तर पर समीक्षा कर सितंबर तक हाल में पूर्ण किया जाना सुनिश्चित करें।
उन्होंने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिया कि मनरेगा के कार्यों को लक्ष्य के अनुरूप शत प्रतिशत कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि हैंडपंपों के रिबोर/मरम्मत एवं पंचायत भवनों के निर्माण कार्य को तत्काल पूर्ण कराया जाए। उन्होंने कहा कि 75 प्रतिशत पूर्ण हो चुके सामुदायिक शौचालयों को इसी महीने पूर्ण किया जाना सुनिश्चित करें।

उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि सामूहिक विवाह योजना, पेंशन योजना, कन्या सुमंगला योजना तथा शादी अनुदान को निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष शत प्रतिशत पूर्ण किया जाना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने सभी प्राथमिक विद्यालयों का निरीक्षण कर प्रॉपर व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि 01 सितंबर से प्राथमिक विद्यालय खुलना है, इसलिए सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त कर ली जाए।

जिलाधिकारी सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जनप्रतिनिधियों की शिकायतों का तत्काल निस्तारण सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक कार्यालय में जनप्रतिनिधियों के शिकायत से संबंधित एक रजिस्टर अनिवार्य रूप से रखा जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि जनप्रतिनिधियों का फोन अवश्य उठाएं तथा उनकी जो भी आवश्यकता/शिकायत हो, उसका निस्तारण किया जाना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने कहा कि तहसील दिवस में आने वाली शिकायत का एक हफ्ता में निस्तारण सुनिश्चित करें।

इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने ग्रामोद्योग, कौशल विकास मिशन, दुग्ध समितियां, आईजीआरएस, युवा कल्याण एवं अन्य विभागों द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा कर निर्धारित लक्ष्य को समय सीमा के अंदर पूर्ण करने के निर्देश दिए।
जिलाधिकारी ने बैठक में अनुपस्थित अधिकारियों का वेतन रोकने के निर्देश दिए।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी आनंद कुमार शुक्ला, वि./रा. गुरुप्रसाद, परियोजना निदेशक अभिमन्यु सिंह, डीडीओ रवि शंकर राय सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.