डीएम ने की विधानसभा निर्वाचक नामावलियों के निरंतर पुनरीक्षण की समीक्षा

0 2

आजमगढ़। जिलाधिकारी राजेश कुमार की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में विधान सभा निर्वाचक नामावलियों के निरन्तर पुनरीक्षण की समीक्षा बैठक समस्त उप जिलाधिकारियों के साथ सम्पन्न हुई। समीक्षा के दौरान पाया गया कि 18-19 आयु वर्ग के युवा मतदाताओं की संख्या 0 अथवा 5 से कम वाले मतदेय स्थलों की संख्या 422 एवं 18-19 आयु वर्ग की युवा महिला मतदाताओं की संख्या शून्य अथवा 5 से कम वाले मतदेय स्थलों की संख्या 1303 है। इसी प्रकार 18-30 आयु वर्ग के युवा मतदाओं की जीरो संख्या वाले मतदेय स्थलों की संख्या 14 एवं 18-30 आयु वर्ग के युवा महिला मतदाताओं की जीरो संख्या वाले मतदेय स्थलों की संख्या 115 है। जिस पर जिलाधिकारी ने समस्त उप जिलाधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि फार्म-6 भरवाकर उक्त मतदेय स्थलों पर युवा मतदाता एवं युवा महिला मतदाताओं की संख्या में वृद्धि कराना सुनिश्चित करें। 18-30 आयु वर्ग के युवा महिला मतदाताओं की संख्या में वृद्धि कराने पर विशेष ध्यान दें।

इसी के साथ ही जनपद की निर्वाचक नामावली में 80-89 वर्ष आयु वर्ग के 62075 मतदाता, 90-99 वर्ष आयु वर्ग के 12936 मतदाता एवं 100 वर्ष आयु वर्ग से ऊपर के 1032 मतदाताओं का सत्यापन कराया जाना है, जिसके लिए जिलाधिकारी ने समस्त उप जिलाधिकारी/तहसीलदारों को निर्देशित करते हुए कहा कि उक्त आयु वर्ग के मतदाताओं का सत्यापन शत प्रतिशत जल्द से जल्द कराना सुनिश्चित करें। इसी के साथ ही यह भी सुनिश्चित कर लें कि जिन मतदाताओं की मृत्यु हो चुकी है, उनका फार्म 7 भरवाकर निर्वाचक नामावली से उनका नाम हटाना सुनिश्चित करें।

समीक्षा में पाया गया कि पुनरीक्षण में प्राप्त दावे/आपत्तियों के अन्तर्गत 2579 फार्म-6 एवं 2428 फार्म-7 प्राप्त हुए हैं। जिस पर जिलाधिकारी ने समस्त उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि उक्त प्राप्त दावे/आपत्तियों का निस्तारण प्राथमिकता के आधार करना सुनिश्चित करें। कुल 308 डीएसई (डेमोग्राफिकल सिमिलर इन्ट्रीज्) पाये गये, जिस पर जिलाधिकारी ने समस्त उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि मैच डीएसई को फार्म-7 के माध्यम से 20 जुलाई 2021 तक शत प्रतिशत डिलिशन कराना सुनिश्चित करें।

जिलाधिकारी ने ईआरओ नेट पर ऑन प्रोसेस फार्म 318, विभिन्न प्रक्रिया में लम्बित 2354, ई-रोल अपडेट हेतु लम्बित 5, सीएससी के प्रारूप-001 पर 40 लम्बित प्रकरणों को प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण करने के लिए निर्देश दिये।इसी के साथ ही कोविड-19 के दौरान मृत कृषकों की वरासत विभिन्न तहसीलों में लेखपाल स्तर पर 33 आवेदन पत्र एवं राजस्व निरीक्षक स्तर पर 20 आवेदन पत्र लंबित हैं।

जिलाधिकारी ने समस्त उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि लम्बित आवेदन पत्रों का निस्तारण कराकर मृत कृषकों के वारिस का वरासत दर्ज कराना सुनिश्चित करें। इसी के साथ ही समस्त तहसीलों में अंश निर्धारण के 395 प्रकरण अवशेष हैं, जिसे 31 जुलाई तक पूर्ण करने के लिए जिलाधिकारी ने समस्त उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिये। इसी के साथ ही मैप डिजिटाइजेशन का कार्य भी 31 जुलाई तक पूर्ण करना सुनिश्चित करें।

इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन नरेन्द्र सिंह, अपर जिलाधिकारी वि./रा. गुरू प्रसाद, जॉइंट मजिस्ट्रेट/एसडीएम सगड़ी गौरव कुमार, समस्त उप जिलाधिकारी/तहसीलदार, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी बृजेश कुमार श्रीवास्तव उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.