कोई विश्वास कहता है,कोई डॉक्टर कहता है, इंजीनियर बनते-बनते बन गये कवि

0 6

डेस्क: डॉ कुमार विश्वास, साहित्य और अदब की दुनिया का एक ऐसा नाम है जिसे हर मजहब, हर प्रांत, हर देश और हर गांव के लोग पसंद करते हैं. अपनी हिंदी कविता और शायरी से हर किसी का दिल जीतने वाले कुमार विश्वास का आज जन्मदिन है. 10 फरवरी 1970 को गाजियाबाद, उत्तरप्रदेश में जन्में कुमार युवा दिलों पर राज करते हैं. 5 भाई बहन में सबसे छोटे कुमार के पिता चाहते थे कि उनका बेटा इंजीनियर बने मगर मुकद्दर में कुछ और ही लिखा था. इंजीनियरिंग की पढ़ाई बीच में ही छोड़कर कुमार विश्वास ने हिंदी साहित्य की तरफ अपने कदम बढ़ा लिए.

‘कोई दीवाना कहते है, कोई पागल समझता है’ जैसी जीत लिखकर कुमार विश्वास ने आवाम के बीच अपनी एक खास पहचान बना ली. कविता के साथ-साथ वो अक्सर देश-विदेश में राम कथा नाम का कार्यक्रम भी करते हैं. इस खास प्रोग्राम में वो भगवान राम की कहानियां सुनाते हैं और उनकी जीवनी पर रौशनी डालते हैं.

बता दें कि डॉ. कुमार विश्वास इंटरनेट की दुनिया के सबसे लोकप्रिय कवि हैं, जिनके ट्विटर और फ़ेसबुक पर ढेरों प्रशंसक है. उन्हें साहित्य में अपने योगदान के लिए हिन्दी-उर्दू अकादमी अवार्ड से भी नवाज़ा जा चुका है. उनकी लोकप्रियता का अंदाज़ा इस बात से भी लगाया जा सकता है की जब एक कार्यक्रम करने वो लखनऊ यूनिवर्सिटी पहुंचे तो छात्रों ने लाल फुल नीला फुल कुमार भैया ब्यूटीफुल का नारा लगाकर उनका स्वागत किया.

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.