लखीमपुर हिंसा: कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल के साथ राष्ट्रपति से मिलेंगे राहुल गांधी, हिंसा के तथ्यों पर राष्ट्रपति को सौंपेगें ज्ञापन

खुद को दलितों के चैंपियन के रूप में पेश करने की कोशिश

0 4

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले के तिकुनिया गांव में हुई हिंसा को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा अजय मिश्रा के इस्तिफा कि मांग कर रहीं हैं वहीं राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात करेगा। । कांग्रेस ने 10 अक्तूबर को पार्टी के सात सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल के लिए राष्ट्रपति से मिलने का समय मांगा था। इसके बाद मंगलवार को राष्ट्रपति की तरफ से इसकी मंजूरी दे दी गई। पार्टी के मुताबिक, प्रतिनिधिमंडल तीन अक्तूबर को हुई हिंसा के तथ्यों पर राष्ट्रपति को एक ज्ञापन सौंपेगा प्रतिनिधिमंडल के सात सदस्यों में राहुल गांधी के अलावा प्रियंका गांधी वाड्रा, एके एंटनी, मल्लिकार्जुन खड़गे, केसी वेणुगोपाल, गुलाम नबी आजाद और अधीर रंजन चौधरी शामिल हैं।

वहीं भाजपा पर लगातार निशाना साधते हुए प्रियंका और राहुल ने कहा कि दूसरे काम के लिए प्रधानमंत्री के पास समय है लेकिन किसानों के परिवार से मिलने का वक्त नहीं है। साथ ही इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर भी सवाल उठा रही है। इस पर भाजपा ने राहुल और प्रियंका गांधी का नाम लेते हुए कहा कि लखीमपुर खीरी कांड को लेकर खूब राजनीति हो रही है। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि वे खुद को दलितों के चैंपियन के रूप में पेश करने की कोशिश कर रहे थे। और कहा कि राजस्थान में (कांग्रेस द्वारा शासित) एक युवा दलित व्यक्ति की कुछ दिनों पहले पीट-पीटकर हत्या करने की घटना की जांच नहीं की गई और किसी का ध्यान नहीं गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.