छत्तीसगढ़ : मैनपाट महोत्सव में दर्शकों पर पुलिस ने बरसाई लाठी

0 5

अंबिकापुर : छत्तीसगढ़ के मैनपाट में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए मैनपाट महोत्सव का 3 दिवसीय आयोजन किया गया था। इस तीन दिवसीय महोत्सव में बॉलीवुड, भोजपुरी से लेकर लोक कला के गीत संगीत का तड़का भी लगता है। यहां लोग सपु्रसिद्ध कलाकारों के गीत-संगीत के साथ ही स्थानीय लोक कलाकारों की प्रस्तुतियों का लुत्फ उठाने आते हैं।

दरअसल, मैनपाट महोत्सव के पहले दिन भोजपुरी के ख्यातिनाम कलाकार खेसारी लाल यादव का कार्यक्रम था। उनके कार्यक्रम की प्रस्तुति के दौरान देर रात झूमते दर्शकों और कुछ पुलिसकर्मियों के बीच विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा कि देखते ही देखते पुलिसकर्मियों ने भीड़ पर लाठियां चलानी शुरू कर दी। आयोजन स्थल पर भगदड़ मच गई। मंच से उतरकर जाने से पहले खेसारी लाल यादव लगातार अपील करते रहे कि कृपया दर्शकों पर लाठी ना चलाएं। वे (दर्शक) हैं तो ही खेसारी लाल यादव जिंदा है लेकिन पुलिसकर्मियों ने नामचीन कलाकार की अपील को भी दरकिनार किया और लगातार दर्शकों पर लाठियां चलाई।

गौरतलब है कि पुलिस भीड़ को नियंत्रित करने में असमर्थ थी, इसी बात से नाराज होकर पुलिसकर्मियों ने लोगों पर लाठी चलाई जिसके बाद मची भगदड़ में कई लोग घायल हो गए। नाराज दर्शकों ने भी जमकर गुस्सा उतारा। लगभग 500 कुर्सियां तोड़ दी गई है। पुलिसकर्मियों पर भी कुर्सियां फेंकी गई है। मामले में पुलिस और प्रशासन के अधिकारी फिलहाल कुछ भी बोलने से इंकार कर रहे हैं, लेकिन मैनपाट से जो क्लिप सामने आई हैं वह पुलिस और प्रशासनिक व्यवस्था पर सवाल खड़े कर रही हैं।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.