Miss India Runner Up : ऑटो रिक्शा ड्राईवर की बेटी पहुंची मिस इंडिया के मंच

0 7

मुंबई : मुंबई में आयोजित वीएलसीसी फेमिना मिस इंडिया 2020 में तेलंगाना की मानसा वाराणसी ने खिताब अपने नाम किया. प्रातियोगिता में मानसा के अलावा फर्स्ट रनरअप रहीं उत्तर प्रदेश की मान्या सिंह और सेकेंड रनरअप रहीं मनिका शियोकांड भी काफी सुर्खियां बटोर रहीं हैं. मान्या भले ही वीएलसीसी मिस इंडिया 2020 का खिताब अपने सर पर साजाने में पीछे रह गई हो लेकिन सोशल मीडिया पर उनकी जबरदस्त चर्चा हो रही है. सोशल मीडिया पर छाए रहने के पीछे की असल वजह उनका रियल लाइफ स्ट्रग्ल माना जा रहा है. मान्या ने कुछ महीने पहले सोशल मीडिया पर एक लंबे चौड़े पोस्ट के साथ ही खुद अपने संघर्ष की कहानी को शेयर किया था.

पिता एक ऑटो रिश्का चालक

मान्या सिंह की जिंदगी की बात करें तो उनकी लाइफ प्रतियोगिता में भाग लेने वाली अन्य मॉडल से काफी अलग है. उनके पिता एक ऑटो रिश्का चालक हैं. उनका बचपन कई तरह की मुश्किलों में गुजरा है. मान्या ने सोशल मीडिया पोस्ट पर अपने बारे में खुलासा करते हुए लिखा था, ‘मैंने भोजन और नींद के बिना कई रातें बिताई हैं. मेरे पास कई मीलों तक चलने के लिए पैसे नहीं होते थे. मेरे खून, पसीने और आंसुओं ने मेरे सपनों को आगे बढ़ाने के लिए साहस जुटाया है.

ऑटो रिक्शा चालक की बेटी होने के नाते, मुझे कभी स्कूल जाने का अवसर नहीं मिला क्योंकि मुझे अपने बचपन में ही काम करना शुरू करना था. मेरी मां के पास मेरी परीक्षा की फीस भरने के लिए पैसे नहीं थे जिसकी वजह से उन्होंने अपने गहने तक गिरवी रख दिए थे और हमेशा पैशन को फॉलो करने के लिए कहा. मेरी मां ने मेरे लिए बहुत कुछ झेला है.’

इस पोस्ट में उन्होंने खुलासा किया कि, ‘मैं 14 साल की उम्र घर से भाग गई थी. दिन के वक्त मैं पढ़ाई करती थी, और शाम को बर्तन धोती थी और रात के वक्त कॉल सेंटर में काम भी करती थी. मैं मीलों तक पैदल चलकर जाती ताकि रिक्शे का किराया बचा सकूं. आज मैं वीएलसीसी फेमिना मिस इंडिया 2020 के मंच पर सिर्फ और सिर्फ अपने माता-पिता और भाई की वजह से हूं. इन लोगों ने मुझे सिखाया कि आपको अगर खुद पर विश्वास है तो आपके सपने पूरे हो सकते हैं.’

Leave A Reply

Your email address will not be published.