अब कोविन पोर्टल पर ही वैक्सीन सर्टिफिकेट की गलतियां सुधारें

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के एडिशनल सेक्रेटरी विकास शील ने बुधवार को यह जानकारी दी।

0 7

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने कोविन पोर्टल पर एक नया फीचर जोड़ दिया है। इससे अगर वैक्सीन लगवाने वाले व्यक्ति के वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट में किसी तरह की गलती हो गई है, तो उसे कोविन पोर्टल के जरिए ठीक किया जा सकेगा। इसके जरिए नाम, डेट ऑफ बर्थ या जेंडर से जुड़ी गलतियों को सुधारा जा सकेगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के एडिशनल सेक्रेटरी विकास शील ने बुधवार को यह जानकारी दी।

लाभार्थी अब कोविन पोर्टल पर अपने कोविड-19 वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट में गलतियों को खुद ही ठीक कर सकते हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव विकास शील ने बुधवार को कहा कि सरकार ने कोविड -19 वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट में गलतियों को सुधारने के लिए कोविन प्लेटफॉर्म में एक नया फीचर जोड़ा गया है।

आरोग्य सेतु के ट्विटर हैंडल के जरिए किए गए ट्वीट के मुताबिक, अब आप अपने कोविन सर्टिफिकेट में नाम, जन्मतिथि और जेंडर में गलतियों को सुधार सकते हैं। इस तरह की गलतियों को सुधारने के लिए आपको कोविन डॉट जीओवी डॉट इन पर लॉगिन करना है। इसके बाद वैक्सीन लगवा चुके व्यक्ति को रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से लॉग इन करना होगा। रेज एन इश्यू के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। नाम, ईयर ऑफ बर्थ और जेंडर में करेक्शन का ऑप्शन आएगा। इस पर टिक करके करेक्शन किया जा सकेगा।

कोविन ऐप के 5 मॉड्यूल
यह ऐप वैक्सीनेशन की प्रोसेस, एडमिनिस्ट्रेटिव एक्टिविटीज, टीकाकरण कर्मियों और उन लोगों के लिए एक मंच की तरह काम करता है, जिन्हें वैक्सीन लगाई जानी है। इसमें 5 मॉड्यूल दिए गए हैं। जिनमें प्रशासनिक मॉड्यूल, रजिस्ट्रेशन मॉड्यूल, वैक्सीनेशन मॉड्यूल, लाभान्वित स्वीकृति मॉड्यूल और रिपोर्ट मॉड्यूल शामिल हैं।

देश में वैक्सीनेशन का हाल
अब तक देश में कोरोना वैक्सीन के 23 करोड़ 90 लाख 58 हजार 360 डोज दिए जा चुके हैं। इसमें 99.95 लाख हेल्थकेयर वर्कर्स को पहला डोज और 68.91 लाख को दोनों डोज लगाए जा चुके हैं। ऐसे ही 1.63 करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स को पहला डोज और 87.26 लाख लोगों को दोनों डोज दिए जा चुके हैं।
देश में 18 से 44 साल की उम्र के 3.17 करोड़ लोगों को वैक्सीन का पहला डोज दिया जा चुका है। इनमें 3.16 लाख लोगों को दोनों डोज लग चुके हैं। वहीं, 45 से 60 साल के बीच के 7.25 करोड़ लोगों को वैक्सीन का पहला डोज लग चुका है। इनमें 1.15 करोड़ लोग वैक्सीन के दोनों डोज ले चुके हैं।
सीनियर सिटीजन यानी 6 साल से ज्यादा उम्र के 6.12 करोड़ लोगों को कोरोना वैक्सीन का पहला डोज दिया जा चुका है। इनमें से 1.94 करोड़ लोग वैक्सीन के दोनों डोज ले चुके हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.