चालू रहेंगी औद्योगिक इकाइयां, विवाह समारोह और अंतिम संस्कार में हो कोरोना प्रोटोकॉल का पालन

0 4

चालू रहेंगी औद्योगिक इकाइयां, विवाह समारोह और अंतिम संस्कार में हो कोरोना प्रोटोकॉल का पालन

ब्यूरो (विद्रोही आनन्द)
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बढ़ते कोरोना की चेन तोड़ने के लिए शनिवार रात आठ बजे से सोमवार सुबह 7 बजे तक 35 घंटे का कोरोना कर्फ्यू रहेगा। इस दौरान सख्ती के निर्देश जारी किए गए। बिना जरूरी काम के बाहर न निकलें। बिना मास्क पकड़े जाने पर पहली बार में एक हजार रुपए और दूसरी बार में 10 हजार रुपए जुर्माने का प्रावधान है। इस बीच सरकार ने पहले ही ऐलान किया है कि मास्क न लगाने वालों के खिलाफ सख्ती से निपटा जाएगा। इस बीच लॉकडाउन के दौरान अंतिम संस्कार में केवल 20 लोग ही शामिल हो सकते हैं, औद्योगिक इकाइयों को चलाने की छूट दी गई है।
कोरोना कर्फ्यू के दौरान आवश्यक सेवाएं, पंचायत चुनाव से जुड़ी पोलिंग पार्टियों, स्वास्थ्य सेवाओं, सफाई आदि से जुड़े कर्मियों को ही आवागमन की अनुमति रहेगी। आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी बाजार, दफ्तर बंद रहेंगे। इस अवधि में जिले स्तर पर अग्निशमन विभाग द्वारा नगर निगम, नगर पंचायत तथा ग्राम पंचायत स्तर पर तथा चीनी मिलों द्वारा स्वच्छता सफाई का विशेष अभियान चलाकर सैनिटाइजेशन व फॉगिंग की जाएगी।
सीएम योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को टीम-11 के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के बाद अधिकारियों को लॉकडाउन के साथ ही 35 घंटे के कर्फ्यू को लेकर कुछ निर्देश दिए।

सीएम योगी आदित्यनाथ के प्रमुख निर्देश
-श्रमिकों को उनके कार्यस्थलों पर आवाजाही की अनुमति दी जाएगी।
-शनिवार और रविवार को सभी शादियों को (बंद स्थानों के अंदर 50 व्यक्तियों के प्रतिबंध और खुले स्थानों पर 100 व्यक्तियों के साथ) मास्क, सामाजिक दूरी और सैनिटाइजर के उपयोग के अनुसार अन्य सावधानियों के साथ की अनुमति रहेगी।
-सभी परीक्षाओं जैसे एनडीए आदि की अनुमति दी जाएगी और परीक्षार्थियों और उम्मीदवारों का आईडी कार्ड पास के तौर पर मान्य होगा।
-सार्वजनिक परिवहन को विशेष रूप से राज्य परिवहन की बसों में 50 फीसदी क्षमता के साथ चलने की अनुमति दी जाएगी।
-अंतिम संस्कार के लिए 20 से अधिक व्यक्तियों को अनुमति नहीं दी जाएगी।
-जिन उद्योगों में रविवार को साप्ताहिक अवकाश रहता है, उन्हें छोड़कर सभी खुलेंगे। खासतौर से फार्मा, सैनिटाइजर बनाने वाली और अन्य ऐसे उद्योग जो कोरोना के खिलाफ जंग में शामिल हैं।

दस नए ऑक्सीजन प्लांट लगेंगे
टीम-11 के साथ समीक्षा बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया कि प्रदेश में ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति के लिए दस नए ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना करवाएं।  इसके बाद स्वास्थ्य मंत्री सभी ऑक्सीजन प्लांट पर नजर रखेंगे। प्रदेश का नया कोविड अस्पताल अवध शिल्पग्राम में तैयार किया जाएगा। अब प्रदेश में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए सभी सरकारी अस्पतालों में इमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर जनरल ओपीडी बंद कर दी गई है।

क्वारंटीन सेंटर नहीं बनने पर डीएम होंगे जिम्मेदार
प्रत्येक जिले में राजस्व विभाग तथा स्वास्थ्य विभाग की गाइड लाइन के शासनादेश के मुताबिक क्वारंटीन सेंटर की स्थापना आज ही यानी गुरुवार रात तक उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। जिन जिलों से गुरुवार रात तक इसकी सूचना नहीं दी जाती है वहां के जिलाधिकारी और संबंधित राजस्व अधिकारी जिम्मेदार होंगे।

कैंप लगाकर पुलिस कर्मियों की होगी कोरोना जांच
पुलिस कर्मियों में कोरोना के संक्रमण को रोकने के संबंध में की गई व्यवस्थाओं की समीक्षा जिले स्तर पर पुलिस अधिकारियों को करने के निर्देश दिए हैं। पुलिस लाइन में कैंप लगाकर टेस्टिंग आदि कराने को कहा है। पुलिस लाइन, पुलिस चौकी, थाना, पुलिस आफिस पर फॉगिंग प्रतिदिन अग्निशमन विभाग से कराने के निर्देश दिए हैं।
पुलिस आयुक्त, जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, पुलिस अधीक्षकों को रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन तथा हवाईअड्डों पर स्क्रीनिंग तथा टेस्टिंग की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। सरकारी, निजी अस्पतालों, निजी मेडिकल कॉलेजों में ऑक्सीजन की सप्लाई की व्यवस्था जिले के ड्रग इंस्पेक्टरों को कराने को कहा है।
मुख्य सचिव ने कहा है कि नगर निगमों में कोविड-19 से बचाव के लिए संसाधनों की आवश्यकता है। नगर निगमों से कहा है कि वह तत्काल मांग पत्र नगर विकास विभाग और राजस्व विभाग को भेजें।

मास्क नहीं लगाने 10,000 रुपए तक जुर्माना
मुख्य सचिव ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि शहरों तथा ग्रामीण क्षेत्रों में मास्क की अनिवार्यता सुनिश्चित कराई जाए। इसका पालन नहीं करने पर पहली बार 1000 रुपए जुर्माना तथा दूसरी बार अधिकतम 10,000 रुपए तक जुर्माना किया जाए। मास्क की अनिवार्यता लागू कराने के लिए थानाध्यक्षों को उत्तरदायी बनाने के निर्देश दिए हैं। पुलिस व प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी भी मुख्य मार्ग, चौराहों तथा बाजार का निरीक्षण कर मास्क की अनिवार्यता को लागू कराएंगे।

प्रदेश में ऑक्सीजन की सप्लाई नियमित
यूपी के अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने कहा कि प्रदेश में रेमडेसिवीर की उपलब्धता के लिए विशेष कंट्रोल रूम बनाया गया है। यह गलत जानकारी दी जा रही है कि निजी लैब टेस्ट नहीं कर रहे हैं। शनिवार को निजी लैब द्वारा 19 हजार टेस्ट किए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग अपने सैंपल भेजकर निजी लैब में टेस्ट करा सकते हैं। प्रदेश में ऑक्सीजन की सप्लाई नियमित है। डीआरडीओ ने प्रस्ताव दिया है जिसमें वे 15 दिनों में 10 नए प्लांट बनाएंगे, जिसमें हवा से ऑक्सीजन बनाई जाएगी। मुख्यमंत्री ने आदेश दिया है कि एक सप्ताह के अंदर ये सारे प्लांट शुरू कर दिए जाएं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.