सेहतनामा : शरीर में ऑक्सीजन का स्तर सामान्य बनाए रखने के लिए 6 जरूरी आहार

शरीर में ऑक्सीजन का स्तर

0 21

कोरोना काल के दौरान अपनी सेहत का विशेष तौर पर ख्याल रखने की जरूरत है। स्वस्थ शरीर और बेहतर इम्‍यूनिटी के साथ ही हमारा शरीर इस वायरस का मुकाबला करने में सक्षम होगा। इम्‍यूनिटी के साथ-साथ यह भी जरूरी है कि शरीर में ऑक्सीजन का स्तर लगातार सामान्‍य बना रहे। इसके लिए ऐसी चीजों का सेवन करना चाहिए, जो शरीर में ऑक्सीजन के स्तर को सामान्य बनाए रखने में मददगार हैं।
यहां यह स्पष्ट कर देना जरूरी है कि अगर आपको कोविड हुआ है और आपके शरीर में ऑक्सीजन का स्तर सामान्य से नीचे जा रहा है तो ये खाद्य पदार्थ ऑक्सीजन लेवल को बढ़ाने में मददगार नहीं होंगे। उस स्थिति में आपको दवाई, चिकित्सकीय परामर्श और ऑक्सीजन सिलेंडर की ही आवश्यकता होगी।
लेकिन सामान्‍य परिस्थितियों में ये चीजें अपने भोजन में शामिल करने से शरीर की इम्यूनिटी बढ़ती है और ऑक्सीजन की बेहतर सप्लाई होती है।

लहसुन
लहसुन आपकी रसोई में पाई जाने वाली वो गुणकारी चीज है, जो खाने का स्वाद बढ़ाती है, अनेकों बीमारियों में औषधि का काम करती है और साथ ही शरीर में ऑक्सीजन के स्तर को भी बनाए रखती है। लहसुन इम्यूनिटी बढ़ाता है और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी।

नींबू
नींबू की खासियत ये है कि इसमें विटामिन सी भरपूर होता है और जो भी चीजें रिच विटामिन सी का स्रोत हैं, वो शरीर को बेहतर ऑक्सीजन सप्लाई करती हैं।

कीवी
कीवी भी नींबू की तरह ऑक्सीजन को बढ़ाने में मददगार होता है। यह भी विटामिन सी भरपूर है. इसलिए पैनडेमिक के दौरान डॉक्टर लोगों को विटामिन सी भरपूर चीजों का अधिक सेवन करने की सलाह देते हैं।

केला
केला शरीर में ऑक्सीजन स्तर को बढ़ाने में इसलिए मददगार होता है क्योंकि इसमें एल्कलाइन भरपूर मात्रा में होता है।

दही
दही में प्रोटीन होता है, विटामिन और कैल्शियम होते हैं, यहां तक कि कई स्‍वास्‍थ्‍य के लिए उपयोगी बैक्टीरिया भी होते हैं, ये तो हम सब जानते हैं, लेकिन कम ही लोगों को पता है कि दही का नियमित सेवन शरीर में ऑक्सीजन की कमी को भी पूरा करता है। ऑक्सीजन के स्तर को सामान्य बनाए रखने में मदद करता है।

शकरकंद
शकरकंद सिर्फ पोटेशियम, मैग्नीशियम और मिनरल्स का ही स्रोत नहीं है, ऑक्सीजन का भी है। इसे अपने नियमित और संतुलित आहार में जरूर शामिल किया जाना चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.