NCC कैडेट्स से पीएम मोदी का युवा संवाद, कहा- भारत अपनी रक्षा करने में सक्षम

0 8

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में गुरुवार को राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) कैडेट्स के कार्यक्रम में हिस्सा लिया। पीएम मोदी को इस दौरान गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया गया। दिल्ली कैंट के करियप्पा परेड ग्राउंड में एनसीसी रैली के दौरान पीएम मोदी ने कलाकारों की सांस्कृतिक प्रस्तुति भी देखी। इस मौके पर केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत, तीनों सेनाओं के प्रमुख भी मौजूद रहे। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में संविधान में नागरिक कर्तव्य की बात भी कही।

पीएम मोदी ने एनसीसी कैडेट्स को संबोधित करते हुए कहा कि ये वर्ष एक कैडेट के रूप में, भारतीय नागरिक के रूप में नए संकल्प लेने का वर्ष है। देश के लिए संकल्प लेने का वर्ष है, देश के लिए नए सपने लेकर चल पड़ने का वर्ष है। बीते साल भारत ने दिखाया है कि वायरस हो या बॉर्डर की चुनौती, भारत अपनी रक्षा के लिए पूरी मजबूती से हर कदम उठाने में सक्षम है। वैक्सीन का सुरक्षा कवच हो या फिर भारत को चुनौती देने वालों के इरादों को आधुनिक मिसाइल से ध्वस्त करना, भारत हर मोर्चे पर समर्थ है।

हर अभियान में जरूर नजर आते के एनसीसी कैडेट्स

पीएम मोदी ने कहा कि आप सभी एनसीसी के युवा साथियों के बीच जितने भी पल बिताने का मौका मिलता है, वो बहुत सुखद अनुभव देता है। आज के कार्यक्रम देखकर सिर्फ मुझे ही नहीं, हर किसी को गर्व महसूस होता होगा। आपने 26 जनवरी की परेड में भी बेहतरीन प्रदर्शन किया है। शौर्य और सेवा भाव भारतीय परंपरा को जहां बढ़ाया जा रहा है, वहां एनसीसी कैडेट नजर आता है। जहां संविधान के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करने का अभियान चल रहा है वहां भी एनसीसी कैडेट दिखते हैं। पर्यावरण, जल संरक्षण या स्वच्छता से जुड़ा कोई अभियान हो वहां एनसीसी के कैडेट जरूर नजर आते हैं।

वीर बेटियां हर मोर्चे पर शत्रु से लोहा लेने के लिए मोर्चे पर डटीं

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना के पूरे कालखंड में लाखों लाख कैडेट्स ने देश भर में जिस प्रकार प्रशासन, समाज के साथ मिलकर काम किया है वो प्रशंसनीय है। हमारे संविधान में जिन नागरिक कर्तव्यों की बात कही गई है, वो निभाना सभी का दायित्व है। ये कालखंड चुनौतीपूर्ण तो रहा लेकिन ये अपने साथ अवसर भी लाया। अवसर, चुनौतियों से निपटने का विजयी बनने का। अवसर, देश के लिए कुछ कर गुजरने का। अवसर, देश की क्षमताएं बढ़ाने का। अवसर, आत्मनिर्भर बनने का। अवसर, साधारण से असाधारण और असाधारण से सर्वश्रेष्ठ बनने का। इन सभी लक्ष्यों की प्रप्ति में भारत की युवा शक्ति की भूमिका और युवा शक्ति का योगदान सबसे महत्वपूर्ण है।

आप सभी के भीतर मैं एक राष्ट्रसेवक के साथ ही एक राष्ट्र रक्षक भी देखता हूं। भारत की वीर बेटियां हर मोर्चे पर शत्रु से लोहा लेने के लिए आज भी मोर्चे पर डटी हैं। आपके शौर्य की देश को जरूरत है और नई बुलंदी आपका इंतजार कर रही हैं।  मैं आपमें भविष्य के अधिकारी देख रहा हूं।

अनुशासन की भावना हमेशा साथ रहे

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश में एक समय में सैकड़ों ज़िले नक्सलवाद से प्रभावित थे। लेकिन स्थानीय नागरिकों का कर्तव्य भाव और सुरक्षाबलों का शौर्य साथ आया तो नक्सलवाद की कमर टूटनी शुरू हुई। अब देश के कुछ जिलों में ही नक्सलवाद सिमट के रह गया है। एनसीसी के बाद भी अनुशासन की भावना आपके साथ रहनी चाहिए। आप अपने आस-पास के लोगों को भी निरंतर इसके लिए प्रेरित करेंगे तो भारत का समाज और देश मजबूत होगा। दुनिया के सबसे बड़े यूनिफॉर्म, यूथ और राशन के रूप में एनसीसी ने अपनी जो छवि बनाई है वो दिनों दिन और मजबूत होती जा रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.