प्रधानमंत्री मातृ वंदना सप्ताह कार्यक्रम का शुभारंभ

योजना से संबंधित विस्तृत जानकारी दी गई

0 35
मऊ। उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में विधायक विजय राजभर ने फीता काटकर प्रधानमंत्री मातृ वंदना सप्ताह कार्यक्रम का शुभारम्भ कोपागंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से किया। मातृ शक्ति राष्ट्र शक्ति थीम के साथ इस कार्यक्रम का शुभारम्भ हुआ। इस दौरान पात्र लाभार्थियों को प्रथम किस्त लाभ दिलाने हेतु आवेदन पत्र भरवाया गया तथा इसका वितरण विधायक द्वारा पात्र लाभार्थियों को किया गया। इस दौरान विधायक ने बताया कि हमारी सरकार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में माताओं के गर्भावस्था से लेकर बच्चों के शिक्षा दीक्षा तक की व्यवस्था की जा रही है। ऐसे में पहली बार मां बनने वाली महिलाओं के लिए यह योजना बहुत ही लाभदायक साबित हुई है। जिसके द्वारा तीन किस्तों में पहली बार मां बनने वाली महिलाओं को 5 हजार रुपये की आर्थिक सहयोग राशि सरकार द्वारा डीबीटी के माध्यम से लाभार्थी के खाते में दी जाती है। सरकार का पूरा प्रयास है कि कोई भी इस योजना से वंचित ना रहे इसलिए डोर टू डोर अभियान चलाकर पात्र महिलाओं का आवेदन पत्र भरवाया जायेगा ताकि  शत-प्रतिशत पात्र लाभार्थियों को योजना का लाभ मिल सके।

जिला नोडल अधिकारी डॉ. बीके यादव ने बताया कि इसी प्रकार जिले के प्रत्येक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर जनप्रतिनिधियों द्वारा मातृ वंदना सप्ताह कार्यक्रम का फीता काटकर शुभारंभ किया गया। तथा योजना से संबंधित विस्तृत जानकारी दी गई। जिला कार्यक्रम समन्वयक विवेक सिंह ने बताया कि इस योजना की जानकारी के लिए हेल्पलाइन नम्बर 7998799804 जारी किया गया है। इस नम्बर पर कोई भी लाभार्थी फोन करके योजना से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं । साथ ही कोई भी लाभार्थी अपनी नजदीकी आशा एएनएम व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्साधिकारी व बीसीपीएम बीपीएम से संपर्क कर आवेदन भरवा सकते हैं और योजना का लाभ उठा सकते। इस अवसर पर डीपीसी विवेक सिंह, डीपीपीएम संतोष सिंह, आरबीएसके मैनेजर अरबिंद वर्मा, कोपागंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक डॉ. अनिल कुमार, डीपीए अभिषेक शर्मा, बीपीएम मिथिलेश सिंह, बीसीपीएम नीलम, स्वास्थ्य अधिकारी युशूफ सहित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अन्य अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.