किसानों को संबोधित करते हुए राकेश टिकैत बोले – हिंसा हमारी डिक्शनरी में नहीं

0 9

नई दिल्ली : दिल्ली में 26 जनवरी को टैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के बाद भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत निशाने पर हैं. आंदोलन को लेकर जारी उनके पुराने वीडियो इन दिनों खूब सुर्खियां बटोर रहें हैं. राकेश टिकैत उन 37 किसान नेताओं में हैं जिनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को उन्हें नोटिस भी भेजा और तीन दिन में जवाब मांगा है.

इस बीच, गुरूवार को राकेश टिकैत ने गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों को संबोधित करते हुए दिल्ली हिंसा के लिए प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया. राकेश टिकैत ने कहा कि प्रशासन ने किसानों को अपनी जाल में फंसाया. हिंसा से आंदोलन को तोड़ने की साजिश रची गई है.

राकेश टिकैत ने कहा कि अगर सरकार को इस आंदोलन को नहीं चलने देना है तो यहां से हमें गिरफ्तार करे. किसानों को दिल्ली के चक्रव्यूह में फंसाया गया. राकेश टिकैत ने कहा कि जिन्होंने उल्टे सीधे ट्रैक्टर घुमाए उनसे हमारा कोई संबंध नहीं है. राकेश टिकैत ने कहा कि हिंसा का शब्द हमारी डिक्शनरी में ना है और ना रहेगा.

लाल किले में जो कुछ भी हुआ उससे आंदोलन को तोड़ने की साजिश रची गई. किसानों को संबोधित करते हुए राकेश टिकैत ने कहा कि प्रशासन अपनी चाल में कामयाब हो गया. जो जत्था लाल किले में पहुंचा था, उन्हें पुलिस बैरिकेडिंग पर नहीं रोका गया. अधिकारियों से बातचीत के बाद उन्हें जाने दिया गया. उनके धार्मिक भावनाओं को भड़काकर एक धार्मिक ध्वज फहराया गया.

Leave A Reply

Your email address will not be published.