प्रियंका गांधी, बोली- खरबपतियों के लिए धड़कता है 56 इंच का सीना

0 8
सहारनपुर। कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों की महापंचायत में शामिल होने के लिए कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी बुधवार को सहारनपुर पहुंचीं। प्रियंका ने सबसे पहले सिद्धपीठ शाकुंभरी देवी का दर्शन किया। इसके बाद वह मिर्जापुर थाना क्षेत्र के रायपुर स्थित खानकाह दरगाह पहुंचीं थी। यहां उन्होंने रहीमी मदरसा के पूर्व मुतवल्ली स्व. मुफ्ती अब्दुल कय्यूम के परिजनों से भी मुलाकात की। कांग्रेस महासचिव के साथ प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और कांग्रेस नेता इमरान मसूद भी थे।
यहां पहुंचने से पहले उन्होंने सोशल मीडिया पोस्ट कर कहा कि किसानों के दिल की बात सुनने, समझने, उनसे अपनी भावनाएं बांटने, उनके संघर्ष का साथ देने आज सहारनपुर में रहूंगी। भाजपा सरकार को काले कृषि कानून वापस लेने होंगे।

प्रियंका का दूसरा सहारनपुर दौरा

सहारनपुर में प्रियंका गांधी का यह दूसरा दौरा है। इससे पहले 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रत्याशी इमरान मसूद के समर्थन में रोड शो करने सहारनपुर आई थीं। पुराने शहर में हुए रोड शो में खासी भीड़ उमड़ी थी। इसके बाद प्रियंका गांधी 13 फरवरी को बिजनौर और मुजफ्फरनगर के किसानों से भी बात करेंगी

पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा

प्रियंका गांधी ने सहारनपुर में किसानों की महापंचायत को संबोधित करते हुए पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा। प्रियंका ने कहा कि आपने बहुत देख लिया मोदी का 56 इंच का सीना जो खरबपतियों के लिए धड़कता है। इस देश को आत्मनिर्भर बनाने वाला किसान है लेकिन वो किसानों को हर रोज अपमानित कर रहे हैं। प्रियंका ने कहा किकिसान का बेटा सीमा पर शहीद होता है।  किसान का बेटा पीएम की सुरक्षा करता है। पीएम किसान को नहीं पहचान रहे। रोज किसान को अपमानित कर रहे। कहते हैं यह आतंकवादी हैं, संसद में किसान का अपमान किया आन्दोलनगीरी कहकर अपमान किया। ऐसा व्यक्ति देशभक्त नहीं हो सकता। 78 दिन से किसान बॉर्डर पर है।
प्रियंका का भाषण के दौरान कहा कि माता का आशीर्वाद क्लेकर आई हूं। माता की कथा क्या है आपको पता होगा। अकाल पड़ा था। बारिश नहीं आई। तब माता अपनी 100 आंखों से आंसू बहाए। तब किसानों को पानी मिला, राहत मिली, आज जो 3 कानून हैं वो राक्षस रूपी हैं।

प्रियंका ने कहा कि पहला कानून जमाखोरी के दरवाजे खोलेगा

प्रियंका ने कहा कि पहला कानून जमाखोरी के दरवाजे खोलेगा। यह नया कानून खरबपतियों को मदद करेगा। आपकी फसल कैसे खरीदी जाए खरबपति तय करेंगे। सरकारी मंडी डम्प हो जाएंगी। जमाखोर प्राइवेट मंडी में सामान डम्प करेंगे। जब चाहेंगे माल निकालेंगे उन्होंने कहा कि ऐसा कोई कानून नहीं होगा जिससे आपको फसल का सही दाम मिले। कांट्रेक्ट फार्मिंग में धोखा मिलेगा। कम्पनी मनमाना दाम तय करेगी। सरकारी मंडी बन्द होगी। एमएसपी बंद होगी, जमाखोरों बढ़ेगी। किसान की आवाज दबेगी। अरबपतियों की आवाज ही रहेगी।
Leave A Reply

Your email address will not be published.