अंतरिक्ष में उड़ान भरने वाली भारत में जन्मीं दूसरी महिला होंगी सिरिशा बांदला

0 1

वॉशिंगटन। सिरिशा बांदला 11 जुलाई को अंतरिक्ष में उड़ान भरने वाली भारत में जन्मीं दूसरी महिला बनेंगी जो वर्जिन गैलेक्टिक के संस्थापक रिचर्ड ब्रैनसन के साथ अंतरिक्ष की यात्रा करने वाले 5 लोगों में शामिल होंगी। आंध्र प्रदेश में जन्मीं सिरिशा ने कहा, मैं बहुत…सम्मानित महसूस कर रही हूं। कल्पना चावला अंतरिक्ष में जाने वाली भारत में जन्मीं पहली महिला थीं।

भारत की एक और बेटी कामयाबी का परचम लहराने अंतरिक्ष में उड़ान भरने वाली है। सिरिशा बांदला, रिचर्ड ब्रैन्सन की स्पेस कंपनी वर्जिन गैलेक्टिक के अंतरिक्ष यान वर्जिन ऑर्बिट में बैठकर अंतरिक्ष की सैर पर निकलने वाली है।

सिरिशा बांदला भारत की महान बेटियों कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स के बाद एक और भारतवंशी होगी, जो अंतरिक्ष में सैर करने वाली बनेगी। मशहूर उद्योगपति रिचर्ड ब्रैन्सन 11 जुलाई को अंतरिक्ष की यात्रा पर रवाना होने वाले हैं और उनके साथ भारत में जन्मी सिरिशा बांदला भी स्पेस जाएंगी।

सिरिशा बांदला, वर्जिन गैलेक्टिक कंपनी में गवर्नमेंट अफेयर्स एंड रिसर्च ऑपरेशंस की वॉयस प्रेसीडेंट हैं। सिरिशा ने महज 6 सालों की नौकरी में ही यह पद हासिल कर लिया, जो एक गर्व की बात है और उनकी काबिलियत को बयां करता है।

रिचर्ड ब्रैन्सन की टीम में सिरिशा के अलावा 4 और लोग शामिल हैं। सिरिशा के अंतरिक्ष में जाने की खबर सोशल मीडिया पर जंगल की आग की तरफ फैल गई और उन्हें बधाई देने वालों का तांता लग गया। सिरिशा बांदला का जन्म आंध्र प्रदेश के गुंटूंर जिले में हुआ था और वो भारतीय मूल की दूसरी ऐसी महिला हैं, जो अंतरिक्ष के सफर पर रवाना होने वाली हैं।

उनसे पहले कल्पना चावला भी अंतरिक्ष में गईं थीं, लेकिन वापसी के वक्त दुर्भाग्यवश स्पेस शटल कोलंबिया में दुर्घटना का शिकार हो गया था और कल्पना की दर्दनाक मौत हो गई थी। सिरिशा बांदला पर्ड्यू यूनिवर्सिटी से एयरोनॉटिकल/एस्ट्रोनॉटिकल इंजीनियरिं से ग्रैजुएट हैं।

रिचर्ड ब्रैन्सन की कंपनी वर्जिन गैलेक्टिक भी अब स्पेस रेस में काफी तेजी से शामिल हो गई है और उसमें सिरिशा बांदला का काफी महत्वपूर्ण योगदान रहा है। सिरिशा वॉशिंगटन में कंपनी का कामकाज संभालती हैं। वर्जिन गैलेक्टिक कंपनी ने हाल ही में बोइंग 747 प्लेन की मदद से अंतरिक्ष में एक सैटेलाइट को लॉन्च किया था।

सिरिशा ने जार्जटाउन यूनिवर्सिटी से एमबीए किया हुआ है। वहीं, उनके एक रिश्तेदार रामाराव ने उनकी कामयाबी पर कहा कि निश्चित तौर पर ये गर्व की बात है कि वो रिचर्ड के साथ अंतरिक्ष में जा रही है। हम उसकी सुरक्षित यात्रा की कामना करते हैं।

सिरिशा से पहले कल्पना चावला ने अंतरिक्ष में अपना कदम रखा था, लेकिन कल्पना चावला से भी पहले अंतरिक्ष में जाने वाले भारतीय के तौर पर राकेश शर्मा को गौरव हासिल है। इन दोनों के अलावा भारतीय मूल की सुनीता विलियम्स भी अंतरिक्ष में जा चुकी हैं।

बता दें कि इन दिनों अंतरिक्ष में कामयाबी के झंडे गाड़ने के लिए विश्व के तीन सबसे प्रसिद्ध कारोबारियों में रेस लगी हुई है। उनमें एक तो रिचर्ड ब्नैन्सन हैं, वहीं बाकी दोनों उद्योगपति एलन मस्क और जेफ बेजोस हैं। एलन मस्क का अंतरिक्ष प्रोग्राम काफी तेजी से आगे जा रहा है, वहीं जेफ बेजोस भी अंतरिक्ष जाने वाले हैं। लेकिन, रिचर्ड ब्रैनसन ने जेफ बेजोस से 9 दिन पहले अंतरिक्ष यात्रा पर जाने की घोषणा कर पूरी दुनिया को हैरत में डाल दिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.