30 सितंबर को शिक्षक एवं शिक्षिकाओं का होगा विरोध प्रदर्शन

30 सितंबर 2021 को  प्रदेश के सभी संयुक्त शिक्षा निदेशक कार्यालयों पर एक दिवसीय धरने का आयोजन

0 50

लखनऊ। प्रदेश व्यापी संघर्ष के अंतर्गत 30 सितंबर को संयुक्त शिक्षा निदेशक, लखनऊ के कार्यालय पर मंडलीय धरना होगा। जिसमें लखनऊ की प्रत्येक विद्यालय इकाई से शिक्षक एवं शिक्षिकाएं प्रतिभाग करेंगे। यह जानकारी लखनऊ के जिला अध्यक्ष डॉ. आरके त्रिवेदी ने क्वींस इंटर कॉलेज में मंडलीय धरने की तैयारी के लिए आयोजित वरिष्ठ पदाधिकारियों की समीक्षा बैठक में दी।

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेशीय मंत्री एवं प्रवक्ता डॉ. आरपी मिश्र ने बताया कि सरकार द्वारा शिक्षकों के प्रति की जा रही उपेक्षापूर्ण नीतियों के विरोध में तथा अपने संघर्षों एवं बलिदानों से प्राप्त उपलब्धियों को अक्षुण्ण बनाए रखने के के उद्देश्य से स्वर्गीय ओम प्रकाश शर्मा द्वारा चलाए गए संघर्षों को जोर देने के लिए दिनांक 30 सितंबर 2021 को  प्रदेश के सभी संयुक्त शिक्षा निदेशक कार्यालयों पर एक दिवसीय धरने का आयोजन किया गया है। धरना के समापन अवसर पर संयुक्त शिक्षा निदेशक के माध्यम से माननीय मुख्यमंत्री को 19 सूत्रीय मांग पत्र प्रेषित किया जाएगा।

ज्ञापन की प्रमुख मांगों में मनमाने तरीके से लागू किए गए विद्यालय समय में बदलाव कर पूर्व की व्यवस्था लागू किए जाने, पुरानी पेंशन बहाल किए जाने,  अंशकालिक, व्यवसायिक एवं  कंप्यूटर शिक्षकों को पूर्णकालिक शिक्षक का दर्जा एवं समान कार्य के लिए समान वेतनमान दिए जाने, शिक्षकों को निःशुल्क चिकित्सा सुविधा का लाभ दिए जाने, कटौती किए गए भत्तों की वापसी किए जाने, वंचित तदर्थ शिक्षकों का विनियमितीकरण किए जाने स्थानांतरण नीति का सरलीकरण कि जाने आदि 19 सूत्रीय मांगे सम्मिलित होंगी।

बैठक में प्रमुख रूप से प्रदेशीय मंत्री एवं प्रवक्ता डॉ. आरपी मिश्र, जिलाध्यक्ष डॉ. आरके त्रिवेदी के अलावा प्रदेशीय मंत्री नरेंद्र कुमार वर्मा, राज्य कार्यकारिणी सदस्य सुधा मिश्रा, सुमन लता, राज्य परिषद सदस्य अनिल शर्मा, जिला मंत्री अरुण कुमार अवस्थी, कोषाध्यक्ष महेश चंद्र, आय-व्यय निरीक्षक विश्वजीत सिंह, उपाध्यक्षगण मीता श्रीवास्तव, मंजू चौधरी, संयुक्त मंत्री वीरेंद्र कुमार त्रिपाठी आलोक पाठक आरपी सिंह, रश्मि सक्सेना, आजाद मशीन स्वप्निल वाटसन सुमित अजय दास आदि प्रमुख रूप से सम्मिलित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.