अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के खुले कई राज, ये बात आई सामने

0 3

दिल्ली। अमेरिका और यूरोपीय देशो में एशियाई और अशेवत लोगों पर हो रहे लगातार हमले से पूरी दुनिया सकते हैं। हालही में अमेरिका में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद काफी हंगामा हुआ था। पुलिस इसे हादसा करार दे रही थी। लेकिन अब इस मामले में एक सनसनीखेज खुलासा हुआ है। अमेरिका में मिनियापोलिस की एक दमकलकर्मी ने बीते मंगलवार को अदालत में बताया कि उसे अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मदद करने से रोक दिया गया था। वह बुधवार को फिर से अदालत में बयान दर्ज कराएंगी।

रंगभेद का शिकार हुए थे फ्लॉयड

पिछले साल मई में श्वेत पुलिस अधिकारी डेरेक चौविन को फ्लॉयड की गर्दन अपने घुटने से दबाने से रोकने वालों में से एक जिनेवी हन्सेन मंगलवार को यह याद करते वक्त रो पड़ी कि कैसे वह फ्लॉयड की मदद नहीं कर पाई। हन्सेन ने अदालत में जो बताया, उसे सुनकर लोग हैरान रह गए। उन्‍होंने बताया, ‘वहां एक व्यक्ति को मारा जा रहा था। मैं अपने पूरी क्षमता के अनुसार चिकित्सा मुहैया करा सकती थी और इस इंसान ने ऐसा करने से मना कर दिया।’

फ्लॉयड की मौत से पूरे देश में हुए थे प्रदर्शन

हन्सेन उन प्रत्यक्षदर्शियों में से एक थीं जिन्होंने 25 मई को फ्लॉयड की मौत की घटना देखी थी। एक के बाद एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि कैसे चौविन ने फ्लॉयड को छोड़ने की उनकी मिन्नतों को ठुकरा दिया। इनमें वह युवती भी शामिल थीं जिसने फ्लॉयड की गिरफ्तारी का वीडियो बनाया था, जिससे देशभर में प्रदर्शन शुरू हो गए थे।

चौविन को हो सकती है 40 साल तक की जेल

बता दें कि चौविन (45) पर नौ मिनट 29 सेकंड तक फ्लॉयड की गर्दन अपने घुटने से दबाने का आरोप है, जिससे उसकी मौत हो गई। चौविन के खिलाफ सबसे गंभीर आरोप साबित होने पर उसे 40 साल तक की जेल की सजा हो सकती है। चौविन के वकील एरिक नेल्सन ने जवाबी दलील देते हुए कहा, ‘डेरेक चौविन ने वही किया, जो उसके 19 साल के करियर में सिखाया गया था।’ नेल्सन ने कहा कि चौविन और उसके साथी पुलिस कर्मियों के आसपास घटना को देख रहे लोगों की भीड़ उग्र होती जा रही थी और फ्लॉयड पुलिस की कार में न बिठाए जाने के लिए संघर्ष कर रहा था। बचाव पक्ष के वकील ने यह भी कहा कि फ्लॉयड की मौत के चौविन जिम्मेदार नहीं है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.