UP Police की बड़ी कारवाई, कासगंज कांड में एक आरोपी एनकाउंटर में ढेर

0 8

कासगंज : उत्तर प्रदेश के कासगंज से एक ऐसी घटना सामने आई है जहां बेख़ौफ़ माफिया ने सरकारी नोटिस लेकर गए दो पुलिसकर्मी पर ही हमला कर दिया. इस घटना में सिपाही देवेंद्र कुमार की मौत हो गई और दारोगा अशोक कुमार सिंह बुरी तरह जख्मी हो गए हैं.

पुलिस सरगर्मी से आरोपियों में की तलाश कर रही थी. जिसमें मुख्य आरोपी मोतीराम का भाई एलकार पुलिस मुठभेड़ में ढेर हो गया. दोनों पक्षों के बीच फायरिंग हुई और वह मौके पर ही मारा गया. पुलिस अब मोतीराम की तलाश में लगी हुई है. पुलिस ने दोनों भाईयों के अलावा कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था. दरअसल, अवैध शराब की सूचना पर दबिश देने
दारोगा अशोक कुमार सिंह और सिपाही देवेंद्र कुमार माफिया मोतीराम के घर पहुंचे थे. मोतीराम ने दोनों को बंधक बना लिया. इसके बाद सिपाही की पीटपीट कर हत्याकर दी जबकि दारोगा को बुरी तरह घायल कर दिया. उनकी हालत गंभीर बनी हुई है. दोनों गांव से डेढ़ किलोमीटर दूर बंधी हालत में मिले थे.

बता दें कि सिपाही देवेंद्र सिंह आगरा के गांव नगला बिंदू के रहने वाले थे. खबर मिलने के बाद सिपाही के पिता व परिवार के अन्य लोग रात को ही कासगंज रवाना हो गए. परिवार में देवेंद्र की पत्नी और बहन का रो-रोकर बुरा हाल है. सिपाही देवेंद्र की दो बेटियां हैं, इनमें बड़ी बेटी की उम्र तीन साल है. अन्य लोगों को रोता देख बच्चियां पूछ रही है कि पापा कब आएंगे. देर रात जब खबर मिली तो कई थाने के पुलिस मौके पर पहुंच गई. खबर सीएम तक भी पहुंची और उन्होंने रासुका (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) के तहत कार्रवाई करने का निर्देश दिया. साथ ही मृतक सिपाही को 50 लाख की आर्थिक सहायता और परिजन को नौकरी देने की घोषणा की.

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.