हजरत किरमानी के उर्स में जुटे जायरीन

मत्था टेककर आशीर्वचन प्राप्त कर अपने अपने घरों को प्रस्थान किए

0 17

मऊ। जनपद मऊ के मोहम्मदाबाद गोहना तहसील के नगर पंचायत वलीदपुर में स्थित हजरत सूफी मोहम्मद जान सिद्दीकी किरमानी साहब का 90 वां उर्स का दो दिवसीय कार्यक्रम कोविड-19 का पालन करते हुए मनाया गया। शनिवार को आपसी भाईचारा एवं सौहार्द के प्रतीक इस उर्स के कार्यक्रम में जायरीन मौके पर पहुंचकर मत्था टेककर आशीर्वचन प्राप्त कर अपने अपने घरों को प्रस्थान किए।

सज्जादानशीन शाह मोहम्मद इजहार अहमद मोइनी शनिवार को सुबह कव्वाली एवं जायरिन के साथ कोविड-19 का पालन करते हुए मोइनीया मंजिल से निकलकर अपने मुख्य मार्ग से होते हुए सुबह रौजे पर पहुंचकर संदल की रस्म अदा किये,तत्पश्चात मोइनिया मंजिल से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए अपने मुख्य मार्ग से होते हुए आबिदा बहिनी के मजार पर पहुंचकर गागर की रस्म अदा की।उसके बाद कव्वालों के साथ रौजे पर पहुंचकर फ़ातिहा पढ़ा एवम सभी के लिए दुवाएँ मांगी। ऐसी मान्यता है कि जो भी सच्चे मन से सूफी साहब की मजार पर पहुंचकर सजदा कर मिन्नतें मांगता है, उसकी मिन्नते अवश्य पूरी होती है। सायंकाल खिरका पोसी का कार्यक्रम हुआ।जिसके तहत सज्जादा नशीन शाह मोहम्मद इजहार अहमद मोइनी अपने पूर्वजों के लगभग 400 वर्ष पुराने वस्त्र को धारण करके मोइनिया मंजिल से चलकर जायरीन के साथ रौजे पर पहुंचे एवं पहुंचकर सूफी साहब के मजार पर फातिहा पढ़ा। इसके पश्चात सायंकाल कव्वाली के कार्यक्रम के साथ इस दो दिवसीय उर्स का समापन हो गया।

आस- पास से आये श्रद्धालु रौजे पर पहुंचकर कोविड-19 के तहत सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए गुरु से आशीर्वाद प्राप्त किये। पुलिस प्रशासन के जवान समय-समय पर मुस्तैदी से अपने-अपने तैनाती स्थल पर लगे रहे।कोतवाली प्रभारी मोहम्मदाबाद गोहना नीरज कुमार पाठक समेत अन्य पुलिसकर्मियों ने भी समय-समय पर इस धार्मिक उर्स कार्यक्रम में अपनी सहभागिता निभायी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.