Wednesday , May 25 2022

बाबा रामदेव पर आया संकट, जानें आख़िर क्या कर रही मोदी सरकार..!

लखनऊ: कोरोना की दवा बनाकर चर्चा में आये बाबा रामदेव की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। मोदी सरकार ने बाबा रामदेव की दवा पर सख़्त फैसला लिया है।

पतंजलि की ओर से लांच की गई पहली कोरोना निवारण दवा के विज्ञापन पर मोदी सरकार ने रोक लगा दी है। आयुष मंत्रालय के अनुसार इस दवा की स्टडी और निर्माण की जानकारी विभाग को नही दी गयी थी। ऐसे में इस दवा का किसी भी प्रकार से विज्ञापन करना क़ानूनन अपराध है।

आयुष मंत्रालय ने बाबा रामदेव की पतंजलि से इस दवा के बारे में पूरी जानकारी मांगी है। मंत्रालय का कहना है कि इस दवा से जुड़ी पूरी जानकारी आयुष विभाग के पास होनी चाहिए जैसे कि इस दवा का निर्माण कहाँ किया गया, व किस अस्पताल में इसकी टेस्टिंग की गई है। साथ ही यह भी जानकारी मांगी गई है कि किन मरीजों का ऊपर इस दवा का प्रयोग किया गया है।

आपको बता दे कि पतंजलि ने दावा किया है कि 280 मरीजों पर कोरोनिल दवा का प्रयोग किया गया है और इसका 100 फ़ीसदी रिजल्ट भी आया है।

साथ ही साथ आयुष मंत्रालय का कहना है कि जिस दवा के बारे में उसे पूरी जानकारी नही है और उसका 100 फीसदी रिजल्ट के साथ विज्ञापन कर कानूनी अपराध है।

 

 

Leave a Reply