Friday , August 12 2022

सीट पर बैठने के लिए 10वीं के छात्र ने साथी को मारी गोली

बुलंदशहर। जिले के शिकारपुर थाना क्षेत्र के सूरजभान सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज में कक्षा 10 के छात्र के साथ ही पढ़ने वाले छात्र ने गोली मारकर हत्या कर दी। कक्षा में पास रखी कुर्सी हटाने को लेकर विवाद हुआ था। हत्यारोपित छात्र ने अपने चाचा की लाइसेंसी पिस्टल से सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया है। हत्यारोपित छात्र को स्कूल में ही पकड़ लिया गया है। मृत छात्र के रोते-बिलखते स्वजन पहले स्कूल, फिर अस्पताल पहुंचे हैं।

गांव आंचरूकला के रहने वाले रवि कुमार का 14 साल का बेटा टार्जन, नगर के सूरजभान सरस्वती विद्यामंदिर इंटर कालेज में कक्षा 10 का छात्र था। साल के अंतिम दिन गुरुवार को अन्य छात्रों के साथ टार्जन भी स्कूल पहुंचा। क्लास शुरू होने से पहले एक सहपाठी ने टार्जन को एक कुर्सी उठाकर दूसरी तरफ रखने को कहा। इसी बात को लेकर दोनों के बीच नोकझोंक हुई।

कुछ देर बाद आरोपित ने बैग से पिस्टल निकालकर एक के बाद एक दो गोली टार्जन को मार कर उसकी हत्या कर दी। गोली चलते ही अन्य छात्रों में भगदड़ मच गई। इसी का फायदा उठा कर हत्यारोपित क्लास से निकल गया। हालांकि प्राधानाचार्य प्रभात कुमार वर्मा ने तुरंत ही स्कूल का मुख्य गेट बंद करवाकर पुलिस को सूचना दे दी। स्कूल पहुंची पुलिस ने हत्यारोपित छात्र को पिस्टल सहित पकड़ लिया। पिस्टल उसके चाचा की है।

आरोपी व मृतक दोनों नाबालिग

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने बताया कि क्लासरूम में सीट पर बैठने को लेकर एक दिन पहले भी दोनों के बीच विवाद हुआ था। आरोपी छात्र अपने फौजी चाचा की लाइसेंसी पिस्टल लेकर क्लासरूम में पहुंचा था और छात्र की गोली मारकर हत्या कर दी। हत्यारोपी और मृतक छात्र नाबालिग हैं। मृतक के परिजन का दावा है कि ये हत्या साजिश है। आखिर एक छात्र पिस्टल लेकर क्लासरूम तक कैसे पहुंचा और हत्या जैसी संगीन वारदात को अंजाम दे गया?

Leave a Reply