Friday , October 7 2022

फंड की मांग को लेकर दिल्ली में तीन महापौर सहित 22 नेता अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर

नई दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास के बाहर नगर निगमों के तीनों महापौर सहित 22 नेता अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल बैठे। धरना-प्रदर्शन का बृहस्पतिवार को 11वें दिन है । महापौर ने कहा कि जबतक तीनों नगर निगम का बकाया 13000 करोड़ का फंड जारी नहीं करते तबतक यह भूख हड़ताल जारी रहेगी।

महापौर के धरने को दिल्ली के सभी सातों सांसदों के साथ निगम की 50 से अधिक कर्मचारी यूनियन ने भी समर्थन किया है। इससे निगम के नेता और महापौर उत्साहित हैं। वहीं दिल्ली भाजपा महापौर के धरने को समर्थन देते हुए विधानसभा पर प्रदर्शन करेगी। साथ ही महापौर की अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल के समर्थन में दिल्ली भाजपा के 40000 से ज्यादा कार्यकर्ता सभी लोकसभा क्षेत्रों में भूख हड़ताल पर रहेंगे।

Image

महापौर की भूख हड़ताल के समर्थन में दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता भी धरना स्थल पर पहुंच गए हैं। साथ ही नियमों का बकाया फोन देने की मांग का समर्थन कर रहे हैं। दक्षिणी दिल्ली के महापौर अनामिका सिंह का कहना है कि महिला होने के बावजूद भी वह 10 दिन से इतनी कड़ाके की ठंड में धरने पर हैं । जब 10 दिन से मुख्यमंत्री ने उनकी बात नहीं सुनी तो वह आज से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठ रहे हैं उनके साथ निगम के 20 नेता भी भूख हड़ताल में शामिल हो रहे हैं।

 

CM केजरीवाल से MCD के बकाया 13,000 करोड़ रुपए माँग रहे हैं

दिल्ली के महापौर निर्मल जैन ने कहा कि जो मुख्यमंत्री राजनीति में आने से पहले धरना प्रदर्शन को लोकतंत्र का महत्वपूर्ण हिस्सा मानते थे आज वही मुख्यमंत्री 10 दिन से धरना दे रहे दिल्ली के प्रथम नागरिक महापौर से बातचीत करने तक नहीं आए इतनी कड़ाके की ठंड में बीज निगम पार्षद धरना दे रहे यह उनको दिखाई नहीं दे रहा है।उत्तर दिल्ली के महापौर जयप्रकाश ने कहा कि जिस प्रकार से हमारा धरना अनिश्चित कालीन रूप से जारी रहा था आज से वह भूख हड़ताल में रहेगा। क्योंकि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने महापौर की बात तक नहीं सुनी है इसलिए सभी महापौर आज से भूख हड़ताल पर है।

 

 

Leave a Reply