Monday , August 15 2022
4 नेताओं 26 जनवरी को मातम में बदलने की साजिश नाकाम, पकड़ा गया संदिग्धगोली मारने
26 जनवरी को मातम में बदलने की साजिश नाकाम, पकड़ा गया संदिग्ध

26 जनवरी को मातम में बदलने की साजिश नाकाम, पकड़ा गया संदिग्ध

नई दिल्ली : राजधानी दिल्ली में कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन लगातार ज़ोर पकड़ रहा है। बीते दिनों हुई 11वे दौर की बातचीत बेनतीजा रहने के बावजूद किसान नेता 26 जनवरी पर दिल्ली में ट्रैक्टर मार्च निकलने की तैयारी में जुटे हुए हैं। इस बीच किसानों की ओर से दावा किया गया है कि कुछ लोग ट्रैक्टर रैली में बाधा डालने का प्रयास कर रहें हैं. चौंकाने वाली बात यह हे कि ट्रैक्टर रैली के दौरान चार किसान नेताओं को गोली मारने की साजिश भी रची गई।

4 नेताओं को गोली मारने की साजिश रची गई थी

बता दें कि बीती रात सिंघु बार्डर पर किसान यूनियन की तरफ से एक शख्स को पेश किया गया जिसनें दावा किया कि 26 जनवरी को किसानों के ट्रैक्टर मार्च के दौरान हिंसा और 4 नेताओं को गोली मारने की साजिश रची गई थी। संदिग्ध शख्स ने बताया कि हमारा प्लान यह था कि जैसे ही किसान ट्रैक्टर रैली के दौरान दिल्ली के अंदर घुसने की कोशिश करेंगे और दिल्ली पुलिस से उनकी नोंकझोंक होगी, हम पीछे से फायरिंग करेंगे। ताकि पुलिस को लगे की गोली किसानों की तरफ से चलाई गई हैं। पूछताछ के दौरान आरोपी ने खुलासा किया है कि कुछ लोग पुलिस की वर्दी में भी होंगे ताकि किसानों को तितर बितर किया जा सके। आरोपी युवक ने बताया कि रैली के दौरान स्टेज पर मौजूद चार किसान नेताओं को शूट करने का आर्डर है।

हरियाणा के सोनीपत जिले का रहने वाला था शख्स

इस युवक का नाम योगेश है जो हरियाणा के सोनीपत जिले का रहने वाला बताया जा रहा है। योगेश ने बयान दिया कि किसान नेताओं की हत्या करने का निर्देश उसे सोनीपत के राई थाने के SHO प्रदीप ने दिए थे। लेकिन जब आज तक ने इस बात की पड़ताल की तो पता चला कि राई थाने पर प्रदीप नाम से कोई शख्स ही नहीं है, राई थाने के SHO का नाम भी विवेक मलिक है, जो पिछले 7 महीने से यहां तैनात हैं।

आपको बता दें कि इस मामले में पुलिस गहनता के साथ जांच कर रही है। डीएसपी क्राइम ब्रांच हंसराज सिंह आरोपी योगेश से लगातार पूछताछ कर रहे हैं। योगेश ने खुलासा किया है कि वह दिल्ली स्थित अपने एक रिश्तेदार के घर किसी कार्यक्रम में गया था। जब वहां से 19 तारीख को लौटा तब किसानों ने उसको कैच कर लिया। तब से वह किसानों के साथ ही था। पुलिस इस मामले पर योगेश के साथ-साथ किसानों से भी पूछताछ कर रही है।

 

Leave a Reply