Sunday , August 7 2022

पांच जनवरी से उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में होगा कोरोना वैक्सीन का ड्राई रन

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के सभी 75 जिलों में मंगलवार को कोरोना वैक्सीन लगाने के पूर्वाभ्यास (ड्राई रन) को लेकर बेहद गंभीर हैं। मुख्यमंत्री ने सोमवार को कोर टीम के साथ समीक्षा बैठक में सभी 75 जिलाधिकारियों को ड्राई रन पर बेहद गंभीर रहने का निर्देश दिया। सभी जिलाधिकारियों को ड्राई रन स्थल पर 45 मिनट पहले पहुंचने के निर्देश हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य भारत सरकार की गाइडलाइन्स के अनुरूप संचालित किया जाएगा। उन्होंने केन्द्र द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के क्रम में प्रथम चरण सहित आगामी चरणों में कोरोना वैक्सीनेशन की कार्यवाही सम्पन्न किए जाने के निर्देश दिए हैं।

उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे

मुख्यमंत्री सोवमार को अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि 05 जनवरी, 2021 को पूरे प्रदेश में कोरोना वैक्सीन के सम्बन्ध में ड्राई रन की कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने पूरी प्रतिबद्धता से ड्राई रन की कार्यवाही किए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि इससे वैक्सीनेशन कार्य को सुगमतापूर्वक संचालित करने में सुविधा होगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जनपद स्तर पर कोरोना वैक्सीनेशन के सम्बन्ध में कार्यवाही प्रगति पर है। जिला स्तर पर इस सम्बन्ध में किए जा रहे कार्यों की नियमित समीक्षा की जाए। उन्होंने कोरोना वैक्सीन की सुरक्षित स्टोरेज, प्रभावी कोल्ड चेन व्यवस्था तथा सुगम ट्रांसपोर्टेशन के लिए सभी व्यवस्थाएं समय से सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए हैं।

कोविड-19 के टेस्टिंग कार्य को पूरी क्षमता से संचालित करने के निर्देश

मुख्यमंत्री ने कोविड-19 के टेस्टिंग कार्य को पूरी क्षमता से संचालित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रदेश में प्रतिदिन 1.5 लाख सैम्पल की जांच हो। उन्होंने कांटेक्ट ट्रेसिंग तथा सर्विलांस सिस्टम को निरन्तर प्रभावी बनाए रखने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि जनपद स्तर पर इन्टीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर पूरी सक्रियता से कार्यशील रहें। समस्त जिलाधिकारियों तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारियों द्वारा नियमित रूप से प्रतिदिन सुबह कोविड चिकित्सालय में तथा शाम को इन्टीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर में समीक्षा बैठक की जाए।

कोविड-19 के उपचार एवं बचाव की प्रभावी व्यवस्था को बनाये रखने के निर्देश

मुख्यमंत्री ने कोविड-19 के उपचार एवं बचाव की प्रभावी व्यवस्था को बनाये रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से बचाव के सम्बन्ध में निरन्तर सावधानी बरती जाए। इस सम्बन्ध में थोड़ी लापरवाही भी भारी पड़ सकती है। इसके दृष्टिगत लोगों को विभिन्न प्रचार माध्यमों तथा पब्लिक एड्रेस सिस्टम द्वारा कोविड-19 से बचाव के बारे में लगातार जागरूक किया जाए। संक्रमण से बचाव में सोशल डिस्टेंसिंग तथा मास्क की उपयोगिता के सम्बन्ध में जानकारी प्रदान की जाए। उन्होंने कोविड चिकित्सालयों की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त बनाए रखने के निर्देश दिए हैं।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक हितेश सी अवस्थी

इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, मुख्य सचिव आरके तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक हितेश सी अवस्थी, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई एवं सूचना नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव राजस्व रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य  अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ. रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज एवं ग्राम्य विकास मनोज कुमार सिंह, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव पशुपलान भुवनेश कुमार, सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply