Wednesday , September 28 2022

कण-कण में दिखेगी रामलला की झलक

अयोध्या। उत्तर प्रदेश के अयोध्या में रामलला के मंदिर निर्माण का कार्य तेजी से चल रहा है। रामलला के मंदिर के साथ केंद्र और प्रदेश सरकार अयोध्या का भी विकास तीव्र गति से कर रही है। अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का उच्चीकरण राम नगरी के गरिमा के अनुरूप किया जा रहा है। यहा्ं रेलवे स्टेशन का बाहरी सिरा मंदिर नुमा बनाया जा रहा है। इसके साथ ही सरकार इस प्रयास में है कि अयोध्या रेलवे स्टेशन पर उतरने के साथ ही श्रद्धालु रामलला के मंदिर का भी दर्शन स्टेशन से ही कर सकें।

रेलवे स्टेशन के प्रथम चरण का काम लगभग पूरा हो चुका है और दूसरे चरण के काम के लिए 300 करोड़ रुपये का बजट भी पास कर दिया गया है। संपूर्ण रेलवे स्टेशन का विकास 140 करोड़ों रुपये से होना है। यात्री सुविधाओं से लैस राम नगरी का रेलवे स्टेशन यात्रियों को वहां उतरते ही इस बात का आभास कराएगा कि वे धर्म नगरी अयोध्या में हैं।

इसके साथ ही अयोध्या के सांसद लल्लू सिंह का दावा है कि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के भी बाहरी सिरे का स्वरूप मंदिर मॉडल पर होगा। जितनी भी विकास की योजनाएं चल रही हैं उन सभी में धर्म नगरी और राम मंदिर को प्राथमिकता देते हुए राम की जन्मस्थली की गरिमा के अनुरूप ही बनाया जाएगा।

बताते चलें कि 2023 के दिसंबर तक रामलला भव्य मंदिर में विराजमान हो जाएंगे। ऐसा में रामलला के दर्शनार्थियों की संख्या लगातार बढ़ रही है। लोग अपने आराध्य के मंदिर निर्माण की प्रक्रिया को अपनी आंख से देखना चाहते हैं। लिहाजा प्रतिदिन हजारों की संख्या में श्रद्धालु रामलला के दर्शन करने आ रहे हैं।