Wednesday , August 10 2022

वास्तु शास्त्र के मुताबिक इस रंग के न पहनें जूते-चप्पल,वरना करना पड़ेगा कई कष्टों का सामना

नई दिल्ली: हर व्यक्ति के जीवन में वास्तु शास्त्र का काफी अधिक महत्व है। माना जाता है कि व्यक्ति को हर एक मुश्किल से वास्तु के द्वारा निकाला जा सकता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में रखी हर एक चीज का असर व्यक्ति की तरक्की में नहीं पड़ता है बल्कि उनके द्वारा अपनाएं जा रहे पहनावे का भी अच्छा या फिर बुरा असर पड़ता है। ऐसे ही जूते-चप्पल है। वास्तु के अनुसार, जूते -चप्पल व्यक्ति का भाग्य जिस तरह बना सकते हैं। उसी तरह व्यक्ति के जीवन पर बुरा असर भी डाल सकते हैं। कई बार फैशन के चलते इस तरह के जूते-चप्पल पहन लेते हैं जिसके कारण भविष्य में कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। वास्तु के अनुसार, जूते चप्पल के कुछ रंग है जिन्हें व्यक्ति को पहनने से पहले चार बार सोचना चाहिए। क्योंकि यह चीज आगे चलकर तरक्की में रोड़ा उत्पन्न करती है।
वास्तु शास्त्र के मुताबिक इस रंग के न पहनें जूते-चप्पल
वास्तु शास्त्र के अनुसार, जूते-चप्पल पीले रंग के नहीं पहनना चाहिए। क्योंकि पीला रंग गुरु बृहस्पति से संबंधित है। ऐसे में पीले रंग के चप्पल पहनने से गुरु बृहस्पति का अनादर करते हैं। इसके साथ ही कुंडली में गुरु ग्रह कमजोर हो जाता है। वास्तु में इस ग्रह को सबसे ज्यादा शुभ माना जाता है। ऐसे में अगर कुंडली में यह ग्रह कमजोर हो जाता है, तो व्यक्ति के संस्कारों पर बुरा असर पड़ता है। पैसों की तंगी का सामना करना पड़ता है। किसी भी कार्य में बड़े लोगों का सहयोग मिलना बंद हो जाता है। इसके साथ ही कई शारीरिक और मानसिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। घर की सुख-शांति गायब हो जाती है। इसलिए इस रंग के जूते-चप्पल पहनने से बचना चाहिए।
किस रंग के जूते-चप्पल पहनना होगा शुभ
वास्तु शास्त्र के अनुसार, पीले रंग के अलावा व्यक्ति काले, नीले, सफेद, ब्राउन, हरा, लाल जैसे रंगों को पहन सकता है