Tuesday , July 5 2022

एटा में वकील की पिटाई पर लखनऊ में प्रदर्शन, वकीलों ने किया रोड जाम 

लखनऊ : प्रदेश में वकीलों के साथ हो रहें अभद्र व्यवहार व मारपीट की घटनाएं लगातार बढती जा रहीं हैं. जिससे नाराज वकीलों ने शनिवार को न्यायिक कार्य से विरत रहने का फैसला लिया था. कांउसिल ने इसे गंभीरता से लेते हुए बीते दिनों 26 दिसंबर को न्यायिक कार्य ना करने का ऐलान किया था.

इसी क्रम में राजधानी लखनऊ में सेंट्रल बार एसोसिएशन लखनऊ ने एटा में पुलिस द्वारा वकील को पीटे जाने की कड़ी आलोचना की. एसोसिएशन के महामंत्री संजीव पाण्डेय ने कहा कि प्रदेश में उत्तर प्रदेश बार काउंसिल के हस्तक्षेप के बावजूद वकीलों के खिलाफ हिंसा की घटनाएं नहीं रुक रही.

इतना ही नहीं आरोपितों के खिलाफ कहीं पर कोई कार्रवाई भी नहीं हो रही है. अगर जल्द ही वकीलों की सुरक्षा को लेकर सरकार द्वारा कोई सख्त एक्शन नहीं लिया गया तो प्रदर्शन करने के लिए बाध्य होंगे. उन्होंने एटा की इस घटना के विरोध में कहा कि मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन भेजा जाएगा ताकि उस परिवार व वकील भाई को न्याय मिल सके. उन्होंने कहा कि एटा में वकील के साथ हुई बर्बरता अक्षम्य है.

दोषियों के खिलाफ अगर मंशा के अनुरूप कार्रवाई न हुई तो वकील प्रदेशभर में आंदोलन तेज करने को बाध्य होंगे. सेंट्रल बार के पूर्व उपाध्यक्ष अभिषेक सिंह ने भी उक्त मामले की निंदा करते हुए दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है. डवोकेट नीरज श्रीवास्तव ने भी इस घटना की निंदा की है. उल्लेखनीय है कि एटा जिला के प्रकरण में आरोप है कि बीते दिनों अधिवक्ता राजेंद्र शर्मा के घर का दरवाजा तोड़कर पुलिस ने उन्हें पीटा व परिवार सहित हवालात में बंद कर दिया.

Leave a Reply