Thursday , October 6 2022

आगरा :एक ही घर में तीन लोगों की हत्या, घर के अंदर ही शवों को जलाने की कोशिश

आगरा। उत्तर प्रदेश में ताबड़तोड़ रोजाना अपराध की घटनाएं हो रही हैं, सरकार और पुलिस जनता को सुरक्षा देने में नाकाम सबित हो रही है। प्रदेश में हत्या, बलात्कार और लूट की घटनाओं में बाढ़ आ गयी है। दरअसल आगरा जिले के थाना एत्माद्दौला के नगला किशनलाल का है। जहां एक ही परिवार के तीन लोगों की हत्या से सनसनी फैल गई। सोमवार की सुबह तीनों के शव जली अवस्था में घर के अंदर मिले। पुलिस का कहना है कि हत्या के बाद शवों को जलाने का प्रयास किया गया है। मरने वालों में पति, पत्नी और जवान बेटा शामिल हैं। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

सरकार और पुलिस जनता को सुरक्षा देने में नाकाम

मृतकों में रामवीर (55 साल), उनकी पत्नी मीरा और 22 वर्षीय इकलौता बेटा बबलू हैं। रामवीर मकान में ही परचून की दुकान चलाते थे। रविवार शाम को ही वो ससुराल से लौट कर आए थे। सोमवार सुबह तकरीबन साढ़े छह बजे पड़ोस के लोग उनकी दुकान से सामान लेने आए।
दुकान बंद मिली। उन्होंने आवाज लगाई, लेकिन घर से कोई जवाब नहीं मिला। लोगों ने घर के अंदर झांका देखा तो धुआं निकल रहा था। अनहोनी की आशंका पर पड़ोस के लोगों ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची थाना पुलिस ने किसी तरह घर का दरवाजा खोला। पुलिसकर्मी घर के अंदर गए तो मंजर देखकर सन्न रह गए।

रामवीर, पत्नी मीरा और पुत्र बबलू के शव एक ही कमरे में जली हुई हालत में पड़े थे। बबलू और मीरा के हाथ बंधे हुए थे, जबकि रामवीर के गले में फंदा पड़ा हुआ था। तिहरे हत्याकांड की जानकारी पर आगरा जोन के अपर पुलिस महानिदेशक (ADG) अजय आनंद, पुलिस महानिरीक्षक (IG) ए. सतीश गणेश, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (SSP) बबलू कुमार फोर्स के साथ पहुंच गए।

पुलिस अधिकारियों ने परिजनों और पड़ोस के लोगों से जानकारी ली। एडीजी अजय आनंद ने बताया कि नगला किशन लाल में एक ही परिवार के तीनों की हत्या हुई है। हत्या के बाद शवों को जलाने का प्रयास गया है। किसने हत्या की है, इसकी जांच में पुलिस जुट गई है। एडीजी ने दावा किया है कि घटनास्थल से कुछ सुराग मिले हैं। जल्द ही घटना का खुलासा होगा।

 

 

 

Leave a Reply