Wednesday , September 28 2022
डिंपल नहीं जयंत चौधरी को RS भेजेंगे अखिलेश, SP-RLD के होंगे संयुक्त प्रत्याशी
डिंपल नहीं जयंत चौधरी को RS भेजेंगे अखिलेश, SP-RLD के होंगे संयुक्त प्रत्याशी

डिंपल नहीं जयंत चौधरी को RS भेजेंगे अखिलेश, SP-RLD के होंगे संयुक्त प्रत्याशी

लखनऊ। कपिल सिब्बल के राज्यसभा नामांकन को समाजवादी पार्टी का समर्थन देने के बाद अखिलेश यादव ने गुरुवार को एक और चौंकाने वाला फैसला लिया है। समाजवादी पार्टी गठबंधन से राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) चीफ जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) को राज्यसभा भेजे जाने का फैसला लिया गया है। समाजवादी पार्टी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस बात की जानकारी दी गई है।
आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी गठबंधन इस बार अपने मौजूदा विधायकों की संख्या के मुताबिक राज्यसभा में अपने तीन उम्मीदवारों को निर्वाचित करा सकती है। बुधवार को सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता और चर्चित राजनीतिक हस्ती कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने सपा की मदद से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में नामांकन दाखिल किया। इसके अलावा जावेद अली खान ने भी बुधवार को समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रत्याशी के रूप में राज्यसभा चुनाव का नामांकन दाखिल किया।
समाजवादी पार्टी की तरफ से तीसरी प्रत्याशी के रूप में अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव के नाम को लेकर चर्चा काफी तेज थी। हालांकि बुधवार को जब तीसरा नामांकन दाखिल नहीं हुआ, तो इस मामले में सस्पेंस गहरा हो गया। गुरुवार को जब जयंत चौधरी का नाम सामने आया, तो अब यह स्पष्ट हो गया कि सपा गठबंधन से तीसरा नाम कौन है। बता दें कि सपा गठबंधन के इन तीनों प्रत्याशियों का निर्विरोध निर्वाचित होना अब तय है।
जयंत चौधरी उर्फ जयंत सिंह चौधरी, पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के पोते और पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी अजीत सिंह के बेटे हैं। उनका जन्म 27 दिसंबर 1978 को संयुक्त राष्ट्र अमेरिका में टेक्सास के डलास शहर में हुआ। उन्होंने लंदन स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स से स्नातक किया है। जयंत चौधरी वर्तमान में राष्ट्रीय लोक दल (RLD) के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। वर्ष 2009 से 2014 के बीच 15वीं लोकसभा में वह, जाट बाहुल्य मथुरा लोकसभा सीट से सांसद बने। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में उन्हें मथुरा सीट पर भाजपा उम्मीदवार व फिल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी के आगे हार का सामना करना पड़ा।