Friday , October 7 2022
आज तक के इतिहास में सबसे विफल BJP सरकार है : अखिलेश यादव
आज तक के इतिहास में सबसे विफल BJP सरकार है : अखिलेश यादव

आज तक के इतिहास में सबसे विफल BJP सरकार है : अखिलेश यादव

लखनऊ। यूपी विधानसभा सत्र के दौरान सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव बुधवार को सदन को संबोधित किया। इस दौरान सदन को संबोधित करते हुए उन्होने योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा। अखिलेश यादव ने कहा, युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा है। यूपी में सबसे ज्यादा महिला अपराध है। यूपी की कानून व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। आज तक के इतिहास में अगर कोई सबसे विफल सरकार हुई है तो वह यह सरकार है। प्रदेश में अराजकता का माहौल, ध्वस्त कानून व्यवस्था, सामूहिक बालात्कार, नफरत, भ्रष्टाचार बढ़ाने वाली, विकास रोकने वाली, महंगाई को चरम सीमा पर पहुंचाने वाली यह सरकार है।
अखिलेश ने आगे कहा, हत्याओं के केस में यूपी सबसे आगे है। यूपी साइबर क्राइम,महिला अपराध में आगे है। ये नफरत, भ्रष्टाचार बढ़ाने वाली सरकार है। यूपी में कोई बड़ा निवेश नहीं आया है। सरकार जनप्रतिनिधि नहीं अफसर चला रहे। यूपी का युवा रोजगार के लिए भटक रहा है।
उन्होने कहा, यूपी में असुरक्षा का माहौल पैदा किया गया। शिक्षा के क्षेत्र में उत्तर प्रदेश काफी पिछड़ा है। मेट्रो सपा ने बनाई, उद्घाटन BJP ने किया। अखिलेश बोले, यूपी में स्वास्थ्य व्यवस्था ठीक नहीं है। यूपी का विकास करने में बीजेपी सरकार फेल हो गई है।
अखिलेश ने मौजूदा सरकार से सवाल करते हुए पूछा, 5 साल में कौन सा बिजली कारखाना लगाया। जब बिजली गई तो सरकार की गर्मी उतर गई। हमने जहां प्लांट लगाएं सब कुछ याद है। सरकार बताए 5 साल में कौन सी बिजली बढ़ाई।
इकाना स्टेडियम नेता सदन की प्रिय जगह है। हमारी बनाई रोड पर प्रधानमंत्री लैंड करते हैं। इकाना स्टेडियम सपा सरकार की उपलब्धि है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की राइडिंग क्वालिटी घटिया है। अखिलेश ने कहा कि विकास नहीं बल्कि सरकार सांप्रदायिकता को आगे बढ़ा रही है। अखिलेश यादव ने बीजेपी सरकार पर जमकर निशाना साधा. वहीं अपने कार्यकाल के दौरान किए गए कार्यों को लेकर चर्चा की. पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की गुणवत्ता पर भी अखिलेश यादव ने सवाल उठाए। वहीं उन्होंने कहा कि गर्मी निकालना अब गलत शब्द नही रह गया। अखिलेश यादव ने सदन में चर्चा के दौरान सरकार से सवाल पूछा कि प्रदेश में इनवेस्टमेंट को लेकर कई समिट हुए, लेकिन उससे कितना निवेश आया, सरकार को ये बताना चाहिए. वहीं उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार एक भी मेगावाट बिजली नहीं बनाई है।

आखिर अखिलेश यादव को आजम खान की याद आ गई। यह बजट सत्र के तीसरे दिन विधानसभा में देखने को मिला। कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि किसी भी नेता का पॉलिटिकल करियर में इतना मुकदमा नही हुआ। जो लोग मुकदमा दर्ज करवा रहे थे। वहां के DM से मैंने पूछा। पता चला कि उन पर दबाव था। झूठे मुकदमे दर्ज कराए गए। राजनीति के लिए उन पर फर्जी बकरी चोरी जैसे मुकदमा दर्ज करवाए गए। यह डराने के लिए किया जा रहा है। सरकार अंग्रेजों का डिवाइड रूल अपना रही है। गरीबों पर आप बुलडोजर चलवा रहे हैं। कानून का इस्तेमाल डराने के लिए नही होना चाहिए। इस सरकार में एक IPS फरार है। आज तक किसी सरकार के आईपीएस फरार नही रहे। नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने तीसरे दिन सदन में एक बार फिर कानून व्यवस्था के मुद्दे को उठाया। अखिलेश यादव ने कहा, मैं प्रस्ताव करता हूं कि राज्यपाल के अभिभाषण में कुछ चीजें हमारी तरफ से जोड़ दी जाएं। प्रदेश की सबसे भ्रष्ट सरकार यही रही है। विकास को रोकने वाली, अपराध बढ़ाने वाली यह सरकार है। आज साइबर क्राइम में सबसे ज्यादा मामले यूपी में आ रहे हैं। महिला अपराध के सबसे ज्यादा केस यूपी में है। आज सही मायनों में देखें तो उत्तर प्रदेश शिक्षा में नीचे से चौथे स्थान पर है। अब इसी को विकास मॉडल मानेंगे तो क्या होगा।
अखिलेश ने कहा, यहां हमने देखा कि गरीब को बुलाकर पैर चटवाया गया। वीडियो बनाकर वायरल किया गया। आज वह पीड़ित गांव में रह पा रहा है। एससी एसटी मामले में यूपी सबसे आगे है। स्वास्थ्य में सबसे नीचे पायदान पर। गरीबी बढ़ाने में देश में यूपी सबसे आगे है। भुखमरी में देश का चौथा बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश है। ये आंकड़े एनसीआरबी और डायल-112 के हैं।
अखिलेश ने कहा कि सदन की बिजली गई थी, सरकार की थोड़ी गर्मी निकल गई। अपनी गर्मी निकालने के लिए कुछ अधिकारी सस्पेंड कर दिए। शायद उनकी गर्मी निकाल दिए। अपने काम तो नेता सदन इकाना स्टेडियम में कर लेते हैं, लेकिन कभी इंटरनेशन मैच नहीं होने देते।
विकास मॉडल समाजवादी सरकार ने यूपी में दिखाया था। देश के सबसे बड़े सड़क प्रोजेक्ट यानी आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे को सपा सरकार ने बनवाया।
लखनऊ मेट्रो समाजवादियों ने बनाई, लेकिन उद्घाटन का मौका दूसरी सरकार को मिला। ऐसा उद्घाटन कि 5 साल से जिस स्टेशन से वो ट्रेन जाती है, उसी से वापस आ जाती है।
अखिलेश यादव लखनऊ के इकाना स्पोर्ट्स स्टेडियम का जिक्र कर नेता प्रतिपक्ष यानी योगी आदित्यनाथ को घेरते दिखे। अखिलेश यादव ने कहा, आज हमारे नेता सदन यानी योगी आदित्यनाथ की सबसे प्रिय जगह इकाना स्टेडियम है। जब उन्हें कोई अच्छा काम करना होता है तो वे इकाना में जाकर करते हैं। जब आपको शपथ लेने का मौका मिलो तो इकाना में जाना पड़ा। अखिलेश की इन बातों को सुनकर सदन में बैठे सीएम योगी आदित्यनाथ मुस्कुराते दिखे।
योगी 2.0 के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट 26 मई यानी गुरुवार को पेश किया जाएगा। इस दौरान वार्षिक बजट 2022-23 आगामी मसौदा 26 मई को सदन में रखा जाएगा। जानकारी के मुताबिक, वित्तीय वर्ष का करीब छह लाख करोड़ रुपए का बजट प्रस्तुत किया जाएगा। विधानसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत के बाद योगी सरकार का यह पहला बजट है, जिसको लेकर जनता को काफी उम्मीदें है। माना जा रहा है कि इस बार के बजट में जनता को बिजली में थोड़ी राहत मिल सकती है।