Wednesday , September 28 2022
किसी भी श्रद्धालु को बिना RFID टैग यात्रा की अनुमति नहीं मिलेगी : अमरनाथ श्राइन बोर्ड
किसी भी श्रद्धालु को बिना RFID टैग यात्रा की अनुमति नहीं मिलेगी : अमरनाथ श्राइन बोर्ड

किसी भी श्रद्धालु को बिना RFID टैग यात्रा की अनुमति नहीं मिलेगी : अमरनाथ श्राइन बोर्ड

श्रीनगर। श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने शनिवार को कहा कि इस बार 30 जून से शुरू होने वाली यात्रा के दौरान किसी भी यात्री को बिना आरएफआईडी (रेडियो फ्रिक्वेंसी पहचान) टैग के यात्रा की अनुमति नहीं मिलेगी। बकौल बोर्ड, इस टैग के ज़रिए हर यात्री को ट्रैक किया जा सकेगा व बिना आईडी वाले बाहरी शख्स की भी पहचान हो सकेगी। अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने शनिवार को ऐलान किया है कि बिना आरएफआईडी टैग के किसी यात्री को अमरनाथ यात्रा में शामिल नहीं होने दिया जाएगा। श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड के सीईओ नीतीशवार कुमार ने कहा- श्राइन बोर्ड ने इस साल आरएफआईडी टैग की प्रणाली शुरू की है। इस टैग के साथ हम हर तीर्थयात्री की पोजिशन ट्रेक कर सकेंगे कि वो कहां हैं। उन्होंने कहा कि स्थानीय व्यापारी भी RFID टैग ले रहे हैं। बिना RFID टैग के किसी को यात्रा में शामिल नहीं होने दिया जाएगा।
गौरतलब है कि शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने इस साल अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा चाक चौबंद करने के लिए सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की। इस दौरान उन्हें तीर्थयात्रा को शांतिपूर्ण तरीके से आयोजित करने के लिए सभी एजेंसियों को आपस में बेहतर कॉर्डिनेशन रखने को कहा। पुलिस मुख्यालय में अमरनाथ यात्रा को लेकर पुलिस, सेना और केंद्रीय सशस्त्र अर्धसैनिक बलों (CAPF) के अधिकारियों की एक उच्च स्तरीय बैठक की।
इस बैठक में यात्री शिविर में सुरक्षा, संचार नेटवर्क, राष्ट्रीय राजमार्ग और दूसरी सड़कों पर यातायात प्रबंधन के नियमन, गाड़ियों की पार्किंग और पहलगाम और बालटाल के दोनों रास्तों पर सुरक्षाबलों की तैनाती आदि पर विचार-विमर्श किया गया। बैठक में ये भी तय किया गया कि पुलिस अलग-अलग जगहों पर रेस्क्यू टीम को तैनात करेगी ताकि यात्रा के दौरान किसी भी तीर्थ यात्री की जरूरत पड़ने पर तुरंत मदद की जा सके।