Tuesday , July 5 2022

ममता के गढ़ में शाह की चुनौती, बोले- दीदी ये तो शुरुआत है

मिदनापुर (पश्चिम बंगाल)। दो दिन के पश्चिम बंगाल दौरे पर गए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शनिवार को मिदनापुर पहुंचे। यहां उनकी रैली के दौरान त्रिमुल तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) छोड़ चुके और सीएम ममता बनर्जी के खास रहे पूर्व मंत्री शुभेंदु अधिकारी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का दामन थाम लिया। सांसद सुनील मंडल, पूर्व सांसद दशरथ तिर्की और 10 विधायक भी भाजपा में शामिल हुए। इनमें 5 विधायक तृणमूल कांग्रेस के हैं।

शाह ने कहा कि आज पश्चिम बंगाल में हमारे साथ एक एमपी, नौ एमएलए, एक एक्स मिनिस्टर, एक एमओएस, 15 काउंसलर, 45 चेयरमैन और जिला पंचायत के दो अध्यक्ष जुड़े हैं। अमित शाह ने कहा कि दीदी (ममता बनर्जी) ये तो शुरुआत है। चुनाव आते-आते दीदी (ममता बनर्जी) अकेली रह जाएंगी। मिदनापुर के कॉलेज ग्राउंड में जनसभा को संबोधित करने पहुंचे अमित शाह ने कहा कि शुभेंदु भाई में नेतृत्व में कांग्रेस, तृणमूल, सीपीएम सब पार्टी से अच्छे लोग आज नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में काम करने के लिए भाजपा से जुड़ रहे हैं। दीदी कहती है भाजपा दल-बदल कराती है। दीदी मैं आपको याद कराने आया हूं,जब आपने कांग्रेस छोड़कर तृणमूल बनाई तो वो दल-बदल नहीं था, क्या?

किसान के घर पर खाना खाया

किसान आंदोलन के बीच बंगाल पहुंचे गृह मंत्री अमित शाह, बीजेपी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और पश्चिम बंगाल बीजेपी प्रमुख दिलीप घोष ने पश्चिम मिदनापुर जिले के बेलिजुरी गांव में एक किसान के घर पर खाना भी खाया। अमित शाह ने मिदनापुर के देवी महामाया मंदिर में पूजा की। उन्होंने पश्चिमी मिदनापुर में खुदीराम बोस के जन्मस्थान पर उन्हें श्रद्धांजलि दी, उनके परिवार के सदस्यों से मिले और उन्हें सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि वीर शहीद खुदीराम बोस के जन्मस्थान पर आकर यहां की मिट्टी को कपाल पर लगाने का सौभाग्य मिला। स्वतंत्रता संग्राम में बंगाल और बंगाली सपूतों का योगदान भारत कभी भूला नहीं सकता और खुदीराम बोस इसी परंपरा के वाहक थे। बंगाल के अंदर जो ओछी राजनीति करते हैं मैं उनको बताने आया हूं कि खुदीराम बोस जितने बंगाल के थे, उतने ही पूरे भारत के थे और पंडित राम प्रसाद बिस्मिल जितने यूपी के थे उतने ही बंगाल के थे। भारत की आज़ादी के लिए लड़ने वालों ने कभी इस प्रकार की ओछी राजनीति की कल्पना नहीं की होगी। शाह ने इससे पहले मिदनापुर के सिद्धेश्वरी मंदिर में पूजा की। शाह ने कोलकाता के रामकृष्ण मिशन आश्रम में स्वामी विवेकानंद को श्रद्धांजलि दी और पूजा की। उन्होंने कहा कि आज मेरे लिए सौभाग्य और आनंद का विषय है कि मैं उस जगह पर आया हूं जो न केवल भारत, बल्कि पूरी दुनिया के लिए चेतना जागृत करने की जगह है। स्वामी जी वो शख्सियत थे जिन्होंने आधुनिकता और अध्यात्म को जोड़ने का काम किया। मैं यहां से नई चेतना प्राप्त करके जा रहा हूं।

कहते थे कि भाजपा का खाता नहीं खुलेगा

रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि भाजपा में जो लोग आज आ रहे हैं वो मां माटी मानुष के नारे के साथ निकले थें। लेकिन ममता दीदी की सरकार ने मां माटी मानुष के नारे को टोलबाजी, तुष्टीकरण और भतीजावाद में परिवर्तित कर दिया। कुछ बड़बोले नेताओं ने कहा कि बंगाल में तृणमूल को कोई हरा नहीं सकता। मैं उनको याद कराना चाहता हूं कि संसद के चुनाव के अंदर कहते थे कि भाजपा का खाता नहीं खुलेगा। हमारे दिलीप घोष की अध्यक्षता और मोदी जी के नेतृत्व में 18 सीटें भाजपा ने जीती हैं।

बंगाल को सोनार बांग्ला बना देंगे

शाह ने ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि आपको 10 करोड़ बंगालियों का भविष्य नहीं दिखता। मैं बंगाल के किसानों को पूछना चाहता हूं कि मोदीजी जो 6 हजार रुपये दे रहे हैं, वो आपको क्यों नहीं मिल रहा। मोदी जी लोगों को आयुष्मान भारत योजना दे रहे हैं, ममता के रहते लोगों को ये नहीं मिल पाएगा। जब तक आप तृणमूल को उखाड़कर नहीं फेंक देते, 6 हजार नहीं मिलेंगे। मोदी जी जो भेजना चाहते हैं, वो लोगों को नहीं मिल रहा। अमित शाह ने कहा कि ममता दीदी, इस बार चुनाव परिणाम आएं तो देख लेना भाजपा 200 से ज्यादा सीटें जीतेगी। बंगाल में टोल बाजी बढ़ गई। गुंडों को शरण दी जा रही है। मोदी जी ने जो अम्फान तूफान आने के बाद जो पैसे भेजे, वो गुंडों के पास चले गए। हमने अनाज भेजा, वो ममता के कार्यकर्ताओं के हिस्से में चला गया। हाल ही में हमारे पार्टी अध्यक्ष नड्डा जी की गाड़ी पर पथराव किया गया। दीदी, जितनी हिंसा करोगी, भाजपा कार्यकर्ता उतना तेज जवाब देगा।

दीदी, पूरा बंगाल आपको हटाने के लिए खड़ा हुआ है। मैं सिर्फ इतना कहना चाहता हूं कि बंगाल के मजदूरों, किसानों, युवाओं की समस्याओं का समाधान मोदी जी सरकार ही कर सकती है। आपने तीन दशक कांग्रेस को मौका दिया। कम्युनिस्टों को 27 साल दिए। ममता को 10 साल दिए। हमें एक मौका दीजिए, बंगाल को सोनार बांग्ला बना देंगे। शाह ने कहा कि जितनी हिंसा ममता दीदी करेंगी, बीजेपी उतना जोर से सामना करेगी। पीएम मोदी ने कोरोना काल में बंगाल के गरीबों के लिए 8 महीने तक अनाज भेजा, लेकिन सारा अनाज ममता दीदी के गुंडे लूट कर गए। जबतक बंगाल में ममता दीदी है तबतक बंगाल के गरीबों को आयुष्मान भारत योजना का लाभ नहीं मिलेगा। बंगाल में इस बार बीजेपी 200 से ज्यादा सीटें जीतेगी।

लोकसभा में मिली थी 18 सीटें

भाजपा ने 2021 में होने वाले विधानसभा चुनाव में 294 सीटों में से 200+ सीटों का लक्ष्य रखा है। शाह और नड्डा कई बार सार्वजनिक मंच से इसका ऐलान कर चुके हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने शानदार प्रदर्शन किया था। तब बंगाल की 42 में से 18 सीटें भाजपा के खाते में गई थीं।

Leave a Reply