Monday , August 8 2022

मोदी सरकार में नीतिगत परिवर्तन आने शुरू हुए: अमित शाह

नई दिल्ली। गृह मंत्री अमित शाह ने कोयला खदानों के लिए सिंगल विंडो क्लियरेंस सिस्टम वेब पोर्टल का उद्घाटन किया। इस कार्यक्रम में केंद्रीय कोयला एवं खान मंत्री प्रह्लाद जोशी भी मौजूद रहे। कोयला क्षेत्र को दूर से देखने पर भाव खड़ा होता था कि देश की अर्थव्यवस्था को जितना योगदान देने की क्षमता कोयला क्षेत्र की है उसका एक तिहाई भी योगदान नहीं मिल रहा है। बहुत सारी रूकावटें थीं लेकिन जब से मोदी जी के नेतृत्व में सरकार बनी तब से नीतिगत परिवर्तन आने शुरू हुए।

अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का स्वप्न आत्मनिर्भर भारत का है। हमारे पास दुनिया का सबसे ज्यादा बुद्धिमान युवा है। हमारे पास एक पारदर्शी लोकतंत्र भी है तो ये देश आत्मनिर्भर न हो, ये कैसे चलेगा। पीएम मोदी ने एक विजन आत्मनिर्भर भारत की रचना करने का विजन रखा है।

गृहमंत्री ने कहा कि 2022 में देश की आजादी के 75 साल पूरे होने पर हर क्षेत्र के अंदर भारत आत्मनिर्भर हो। यहां से दुनिया को गति मिले। जब दुनिया को भारत गति देगा, तो भारत की अर्थतंत्र का उभर कर आना स्वाभाविक है।
गृहमंत्री ने कहा कि जब तक भारत आत्मनिर्भर नहीं होता है तब तक प्रधानमंत्री जी का स्वप्न पूरा नहीं होता है और कोयला इसके लिए एक महत्वपूर्ण क्षेत्र है। हमारे पास कोयले का भंडार पड़ा हुआ है। पांच ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी को पूरा करने के लिए इस भंडार का दोहन भी करना पड़ेगा। पिछले छह वर्षों में भारत में कोयले का अभूतपूर्व उत्पादन हुआ है। कल मैंने 60 साल के आंकड़े पढ़े थे, इस दौरान हमने पाया कि सबसे ज्यादा कोयले का उत्पादन मोदी जी के कार्यकाल में हुआ है।

Leave a Reply