Monday , September 26 2022

जल्द होगी बड़ी कार्रवाई तो कांग्रेस ने लगाए गंभीर आरोप

भोपाल। मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव का बिगुल बज चुका है। इसी के साथ ही कांग्रेस और भाजपा के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी शुरू हो गया। इस बार मुद्दा प्रदेश की कानून-व्यवस्था से जुड़ा हुआ है। ऐसे में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने खरगोन हिंसा के 47 दिन बाद सख्त तेवर दिखाए। आपको बता दें कि नरोत्तम मिश्रा ने शुक्रवार को खरगोन के पुलिस कंट्रोल रूम में जिले की कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की।

इस दौरान बैठक में आईजी इंदौर (ग्रामीण) राकेश गुप्ता, जिला कलेक्टर कुमार पुरषोत्तम, एसपी धर्मवीर सिंह समेत कई आला अधिकारी मौजूद रहे। इसके बाद गृह मंत्री का बयान भी सामने आया। जिसमें उन्होंने जल्द ही बड़ी कार्रवाई करने की बात कही।

नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कानून व्यवस्था की स्थिति की विस्तार से समीक्षा की गई है। दंगे की जड़ में कौन था ? दंगे के पीछे कौन थे ? अपराधी कौन थे ? जल्द ही बड़ी कार्रवाई करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि बैठक में संवेदनशील इलाकों में सीसीटीवी कैमरे लगाने और निमाड़ क्षेत्र में एक और बटालियन की स्थापना पर चर्चा हुई। खरगोन में जैतापुर और बिस्टान नाका 2 नए थाने भी बनेंगे।

कांग्रेस ने साधा निशाना

इसी बीच नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस विधायक रवि जोशी ने हमला किया। उन्होंने कहा कि खरगोन में 10 तारीख को दंगा हुआ था। हमको उम्मीद थी कि कानून व्यवस्था को देखने के लिए तत्काल प्रभाव से गृह मंत्री आएंगे। आज उन्होंने कानून व्यवस्था की समीक्षा की लेकिन वो बड़वानी में एक निजी कार्यक्रम में जा रहे हैं। इसलिए खरगोन होकर जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भला हो उस परिवार का जिस परिवार में शादी है। शादी में हाजिरी देने के बहाने खरगोन में कानून व्यवस्था का जायजा ले रहे हैं और समीक्षा कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि खरगोन में दंगा 10 तारीख को हुआ और डेढ़ महीने बाद जाने का क्या औचित्य है ? मैं गृह मंत्री से पूछना चाहता हूं कि ऐसे ही डेढ़-डेढ़ महीने बाद अगर कानून व्यवस्था की समीक्षा करेंगे तो प्रदेश में अराजकता निश्चित फैलनी है।