Monday , August 15 2022

बिहार चुनाव: तेजश्वी चलाएंगे बेरोजगारी हटाने के लिए आंदोलन

पटना: बिहार में बीते कुछ दिन और आने वाले कुछ दिन राजनितिक दृष्टी से बेहद जरुरी है। अभी एक दिन पहले ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वादा किया था कि SC-ST वर्ग के किसी व्यक्ति की हत्या हुई तो वह दलित परिवार को नौकरी देंगे। इस पर पलटवार करते हुए आज आरजेडी नेता और बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री रहे तेजश्वी यादव ने कहा कि, वह समाज के हर वर्ग को नौकरी देंगे। नौकरी देने में जात-पात का कोई भेदभाव नहीं करेंगे।

तेजस्वी यादव आगे कहा कि नीतीश कुमार ने कहा है कि अगर दलित के घर में मर्डर होगा तो हम नौकरी देंगे। नीतीश कुमार का यह बयान दलितों के घर में हत्या को बढ़ावा देने का काम करेगा। तो क्या किसी सवर्ण, पिछड़े या अति पिछड़े जाति में कोई हत्या होगी तो हम उन्हें नौकरी नहीं देंगे। ये कौन सी बात है। आरजेडी ने कहा कि नीतीश कुमार का यह पूरी तरह से राजनीतिक शिगुफा है।

बिहार में चलाएंगे बेरोजगारी हटाने के लिए आंदोलन

नीतीश के बयान के बाद आरजेडी बेरोजगारी को बड़ा मुद्दा बनाने में जुट गई है। शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर तेजस्वी यादव ने बेरोजगारी पर नीतीश कुमार पर प्रहार किया है। इसके अलावा तेजस्वी यादव ने बेरोजगारों को रिझाने के लिए बड़ी घोषणा भी की है। उन्होंने बेरोजगारी हटाओ नाम से वेब पोर्टल लांच किया है।

तेजश्वी ने कोन्फ्रेसं में कहा कि, “आज हम लोग बेरोजगारी हटाने के लिए एक आंदोलन शुरू कर रहे हैं। हम लोग एक वेबपोर्टल http://berojgarihatao.co.in शुरू कर रहे और एक टोल फ्री नं. 9334302020 भी है। इस पर सभी नौजवान पंजीकरण कर सकते हैं और जब हमारी सरकार आएगी तो इस डेटा बेस को मेगा ड्राइव पर चालू करेंगे।”

तेजस्वी यादव ने बताया कि इस नंबर पर कॉल करके कोई भी अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकता है। तेजस्वी यादव ने वादा किया है कि अगर आरजेडी की सरकार बन गई तो वे उन्हें रोजगार मुहैया कराएंगे। तेजस्वी यादव ने कहा कि कैसे रोजगार सृजित वे इस मुद्दे पर लोगों से बात भी कर रहे हैं। तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार सरकार के अलग-अलग विभाग में लाखों पद खाली हैं। यह आंकड़ा साढ़े चार लाख है। ये नौकरियां स्वास्थ्य विभाग, पुलिस और शिक्षा के क्षेत्र में सबसे ज्यादा पद खाली हैं। तेजस्वी यादव ने कहा कि अगर हमारी सरकार बनी तो हमारी प्रयोरिटी है कि हम युवाओं के लिए रोजगार सुनिश्चित करेंगे।

तेजश्वी ने बिहार को बताया बेरोजारी का केंद्र

प्रेस कोन्फ्रेसं में बोलते हुए तेजश्वी यादव ने बिहार सरकार पर आरोप लगाया कि सरकार बेरोजगारों लोगों की समस्या पर गंभीर नही है। तेजश्वी ने कहा कि, “बिहार में सबसे बड़ा मुद्दा बेरोज़गारी का है लेकिन बिहार की सरकार ने इस पर कोई गंभीरता नहीं दिखाई। सबसे ज्यादा बेरोज़गारी बिहार में है, बिहार बेरोज़गारी का केंद्र बन चुका है। बिहार की बेरोज़गारी दर लगभग 46% है। लॉकडाउन के बाद ये स्थिति और भयावक हो गई है।”

40 लाख लोग बेरोजगार होकर लौटे हैं बिहार

देशभर में कोरोना वायरस के कारण लागू हुए लॉकडाउन की वजह से करीब 40 लाख लोग बेरोजगार होकर बिहार लौटे हैं। इनपर तेजस्वी यादव की नजर है। वे इन्हें अपने पक्ष में करना चाहते हैं। इसी बात का ध्यान रखते हुए तेजस्वी यादव ने कहा है कि जो भी आरजेडी की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कराएगा वह उन्हें नौकरी देंगे।

 

 

Leave a Reply