Saturday , May 21 2022

रिटायर्ड नेवी अफसर की पिटाई पर भाजपा ने शिवसेना को घेरा

मुंबई: बीते शुक्रवार को मुंबई में शिवसेना के कार्यकर्ताओं द्वारा नेवी के एक रिटायर्ड अफसर की पिटाई का मामला सामने आने से महाराष्ट्र की उद्धव सरकार की मुश्किलों में और इज़ाफा हो गया। उद्धव सरकार पहले ही एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या मामले और फिर एक्ट्रेस कंगना रनौत के साथ विवाद को लेकर विपक्षी पार्टियों के साथ-साथ आम जनता के विरोध का सामना कर रही है। बता दें कि मुंबई में नेवी के रिटायर्ड अफसर की पिटाई के आरोप में हिरासत में लिए गए शिवसेना नेता समेत अन्य सभी कार्यकर्ताओं को गिरफ्तारी के एक घंटे के अंदर ही जमानत मिलने से भारतीय जनता पार्टी ने शिवसेना के रवैये पर सवाल उठाते हुए अतिरिक्त पुलिस आयुक्त के कार्यालय के सामने जमकर प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन में नौसेना के पूर्व अधिकारी मदन शर्मा की बेटी शीला शर्मा भी शामिल हैं।

क्या है मामला

दरअसल, नौसेना के पूर्व अधिकारी मदन शर्मा से मारपीट मामले में अरेस्ट सभी आरोपियों को शनिवार दोपहर तक जमानत मिल गई है। सभी आरोपियों को 5 हजार रुपये के मुचलके पर जमानत मिली है। कोरोना महामारी के दिशानिर्देशों को ध्यान में रखते हुए यह जमानत दी गई है। जमानत मिलने के खिलाफ गैर जमानती अपराध का मामला दर्ज करने की मांग करते हुए बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया।

भाजपा सहित विपक्ष की अन्य पार्टियों ने शिवसेना पर साधा निशाना

मुंबई में रिटायर्ड नेवी अफसर की पिटाई के मामले पर महाराष्ट्र में पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के दिग्गज नेता देवेंद्र फडणवीस ने शिवसेना पर हमला बोलते हुए कहा कि ये एक प्रकार से राज्य प्रायोजित आतंक जैसी अवस्था महाराष्ट्र में तैयार हो रही है। नेवी ऑफिसर को इस प्रकार से मारना, उसमें भी जब मीडिया का दबाव बना और हम लोगों ने दबाव बनाया 6 लोगों को गिरफ्तार किया। फडणवीस ने आगे कहा लेकिन 10 मिनट में उनको छोड़ दिया, जिस प्रकार का वातावरण तैयार हो रहा है ऐसा तो महाराष्ट्र में इससे पहले हमने कभी नहीं देखा।

वहीं केंद्र और बिहार में भाजपा की सहियोगी पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने भी महाराष्ट्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि आज सहनशीलता इतनी कम हो गई कि 1 स्केच को फॉरवर्ड करने पर रिटायर्ड नेवी ऑफिसर को पीटा गया है जबकि जिन्होंने उन्हें मारा (शिवसेना कार्यकर्ता)उनके संस्थापक स्व.बाला साहब ठाकरे जी खुद अच्छा स्केच बनाते थे,चिंता की बात है कि जिन्होंने पीटा उन्हें कुछ घंटों में जमानत मिल गई।

Leave a Reply