Saturday , October 1 2022
BJP ने डॉ. कल्पना सैनी को उत्तराखंड से बनाया राज्यसभा प्रत्याशी
BJP ने डॉ. कल्पना सैनी को उत्तराखंड से बनाया राज्यसभा प्रत्याशी

BJP ने डॉ. कल्पना सैनी को उत्तराखंड से बनाया राज्यसभा प्रत्याशी

देहरादून। उत्तराखंड की एक राज्यसभा सीट के लिए भाजपा ने डॉ. कल्पना सैनी को टिकट दिया है। हाईकमान ने एक बार फिर राज्यसभा चुनाव में प्रत्याशी के नाम को लेकर चौंका दिया है। प्रदेश नेतृत्व की ओर से भेजे गए 10 नामों में पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत समेत कई दिग्गज दावेदारी कर रहे थे। लेकिन पार्टी ने ओबीसी और महिला कार्ड खेलकर सबको चौंका दिया है।
प्रदेश में राज्यसभा की सीट के लिए 10 जून को चुनाव होना है। जिसके लिए भाजपा ने राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग की अध्यक्ष डॉ. कल्पना सैनी को टिकट दिया ​है। संख्या बल के हिसाब से भाजपा का ही प्रत्याशी राज्यसभा पहुंचेगा। ऐसे में डॉ. कल्पना सैनी का राज्यसभा पहुंचना तय है। विधानसभा में भाजपा के 47 विधायक हैं, जबकि कांग्रेस के 19 और दो निर्दलीय विधायक हैं। ऐसे में बहुमत भाजपा के सा​थ है। प्रत्याशी के चयन में हाईकमान ने काफी समीकरणों को एक साथ साधने की कोशिश की है। पहला है महिला कार्ड। वर्तमान में उत्तराखंड से अनिल बलूनी और नरेश बसंल राज्यसभा में प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। ऐसे में अब एक महिला सांसद हो जाएगीं। इसके साथ ही डॉ कल्पना ओबीसी समुदाय से हैं। जिससे भाजपा ने जातिय संतुलन को भी साधने की कोशिश की है। इसके अलावा सबसे अहम बिंदु है डॉ कल्पना का हरिद्वार सीट से होना। लोकसभा चुनाव 2024 को देखते हुए भाजपा ने हरिद्वार सीट से प्रतिनिधित्व देने का निर्णय लिया है। विधानसभा चुनाव में भाजपा को सबसे ज्यादा निराशा हरिद्वार जिले से लगी। अब पार्टी लोकसभा चुनाव में से इसे पूरा करना चाहेगी। इसके लिए सभी समीकरण साधने की कोशिश की गई है।
भाजपा की ओर से प्रत्याशी बनाने के लिए कई लोगों के नाम केंद्रीय चुनाव समिति को भेजे गए थे। जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार, पूर्व उपाध्यक्ष ज्योति प्रसाद गैरोला, केदार जोशी, श्यामवीर सैनी, आशा नौटियाल, स्वराज विद्वान, पूर्व विधायक कैलाश चंद गहतोड़ी आदि के नाम शामिल थे। पार्टी हाईकमान ने इनमें से डॉ.कल्पना सैनी को राज्यसभा प्रत्याशी घोषित किया है।
डॉ.कल्पना सैनी का भाजपा और संघ से पुराना संबंध हैं। डॉ.कल्पना के पिता पूर्व विधायक स्व.पृथ्वी सिंह उत्तर प्रदेश में कल्याण सिंह सरकार में सिंचाई राज्यमंत्री रहे हैं। साथ ही उत्तराखंड सरकार में भी दायित्वधारी रहे हैं। उत्तराखंड राज्य के अस्तित्व में आने के बाद डॉ.कल्पना सैनी राज्यसभा जाने वालीं प्रदेश की दूसरी महिला सदस्य होंगी। इससे पहले स्व.मनोरमा शर्मा डोबरियाल कांग्रेस के टिकट से राज्यसभा जा चुकी हैं। राज्य गठन से पहले भाजपा एक महिला को राज्यसभा भेज चुकी है जो कि राज्य बनने के बाद भी बनी रहीं। तीन अप्रैल 2000 को सुषमा स्वराज राज्यसभा सांसद चुनी गई थीं। जो कि राज्य गठन के बाद भी दो अप्रैल 2006 तक राज्यसभा की सांसद रहीं। डॉ. कल्‍पना सैनी को 2019 में उत्तराखंड के अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग की अध्यक्ष जिम्‍मेदारी संभाली थी। वह हरिद्वार जिले की जिलाध्यक्ष भी रही हैं। रुड़की के श्री गांधी महिला शिल्प इंटर कालेज से शिक्षण कार्य शुरू करने वाली सैनी ने संस्कृत से पीएचडी की डिग्री हासिल की है। 1995 में, उन्हें भारतीय जनता पार्टी के रुड़की के लिए पार्षद नियुक्त किया।