Monday , September 26 2022

सावन का अंतिम सोमवार को इन उपायों को करने से मिलेगा शिवजी और श्रीहरि का आशीर्वाद

नई दिल्ली: सावन माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी को पुत्रदा एकादशी के नाम से जाना जाता है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा करने के साथ व्रत रखने का विधान है। माना जाता है कि पुत्रदा एकादशी का व्रत करने के साथ विधिवत पूजा करने से संतान की प्राप्ति होती है। इसके साथ ही इस दिन कुछ उपायों को करके अपने मनोकामनाओं की पूर्ति करने के साथ सुख-समृद्धि पा सकते हैं। श्रावण पुत्रदा एकादशी इस बार काफी खास है क्योंकि इस दिन सावन का आखिरी सोमवार पड़ रहा है। ऐसे में इस दिन उपाय करके भगवान विष्णु के साथ-साथ शिवजी की कृपा भी पा सकते हैं। आइए जानते हैं कि पुत्रदा एकादशी के दिन कौन से उपाय करना होगा शुभ।

चढ़ाएं तुलसी और बेलपत्र

पुत्रदा एकादशी के दिन भगवान विष्णु को तुलसी की माला अर्पित करें। इसके साथ ही भोलेनाथ को 108 बेलपत्र की माला चढ़ाएं। माना जाता है कि ऐसा करने से नौकरी-बिजनेस में अपार सफलता के साथ सुख-समृद्धि की प्राप्ति होगी।

पुत्रदा एकादशी के दिन करें ये पाठ

हर काम में सफलता पाने के साथ हर क्षेत्र में नाम कमाने के लिए पुत्रदा एकादशी के दिन विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें और महामृत्युंजय मंत्र का जप करें।
इन पेड़-पौधों की करें पूजा

पुत्रदा एकादशी के दिन आंवले, बेलपत्र के साथ तुलसी के पौधे की पूजा अर्चना करें और शाम के समय घी का दीपक जलाएं। ऐसा करने से श्रीहरि और शिवजी की कृपा प्राप्त होगी।

जरूरतमंद को करें दान

पुत्रदा एकादशी और सावन के आखिरी सोमवार के दिन जरूरतमंद को अनाज, वस्त्र आदि का दान करें। सच्चे मन से सेवा करने से व्यक्ति की हर इच्छा पूरी हो जाती है
इस मंत्र का करें जाप

श्रावण पुत्रदा एकादशी पर पूजा कते समय संतान गोपाल मंत्र ऊं देवकी सुत गोविंद वासुदेव जगत्पते। देहि मे तनयं कृष्ण त्वामहं शरणं गत:।। का जाप करें।