Saturday , August 13 2022

गाजियाबाद में रेलवे ट्रेक पर दौड़ी कार, मामला जानकर उड़ जाएंगे आपके होश

गाजियाबाद: अपने रेलवे ट्रेक पर ट्रेनों को तो रफ़्तार पकड़ कर दौड़ते तो कई बार देखा होगा लेकिन क्या अपने इन्ही रेलवे ट्रेकस पर कार को चलते देखा है। दिल्ली से सटे गाजियाबाद में कुछ ऐसा ही देखने को मिले जिसे देख कर देखने वालों के होश उड़ गए। मामला गाजियाबाद के कविनगर थाना क्षेत्र में रजापुर स्थित वाल्मीकि मोहल्ले का है। यहां पर बुधवार दोपहर 2 मवेशी चोरी कर भागे आरोपितों ने पकड़े जाने के डर से कार रेलवे ट्रैक पर चढ़ा दी। कुछ दूर तक कार दौड़ी फिर ट्रैक पर फंसकर गाड़ी आगे न बढ़ा पाने पर कार से उतरकर एक आरोपित फरार हो गया, जबकि दूसरे को लोगों ने दबोच लिया और जमकर पिटाई की।

अवध-असम एक्सप्रेस के चालक की समझदारी ने टाला बड़ा हादसा

लोग जब आरोपित की पिटाई करने में इतना व्यस्त थे कि वह भूल गये की सभी रेलवे ट्रेक ही मौजूद है। इसी बीच दोपहर 2.55 बजे दिल्ली जाने वाली अवध-असम एक्सप्रेस आई तो चालक ने समझदारी दिखाते हुए रेलवे ट्रैक पर भीड़ देखकर आपातकालीन ब्रेक लगाए। जिससे बड़ा हादसा होने से टल गया। इसके बाद पांच मिनट यहां रुकने के बाद ही ट्रेन गाजियाबाद स्टेशन की तरफ रवाना हुई।

गाजियाबाद में रेलवे ट्रेक पर दौड़ी कार, मामला जानकर उड़ जाएंगे आपके होश

वहीं, गाजियाबाद स्टेशन अधीक्षक कुलदीप कुमार त्यागी ने बताया कि ट्रैक बाधित होने की सूचना पर सप्तक्रांति एक्सप्रेस को गाजियाबाद स्टेशन पर रोका गया। रेलवे कर्मचारी ने मौके पर पहुंचकर ट्रैक साफ होने की रिपोर्ट दी। इसके बाद ट्रेन को आधे घंटे की देरी से रवाना किया गया। इस कारण लखनऊ-दिल्ली रेल मार्ग आधे घंटे बाधित रहा।

चोरों का पीछा करते हुए रेलवे ट्रैक पर दौड़े लोग

गाजियाबाद में रेलवे ट्रेक पर दौड़ी कार, मामला जानकर उड़ जाएंगे आपके होश

बुधवार दोपहर स्विफ्ट डिजायर कार में दो मवेशी चोरी कर आरोपित भागे तो मोहल्ले के लोग पथराव करते हुए उनकी कार के पीछे दौड़े। चिरंजीव विहार से रेलवे ट्रैक के किनारे होते हुए आरोपित जीवन विहार कॉलोनी के पीछे पहुंच गए, लोग भी उनके पीछे दौड़ते हुए पथराव करते रहे। पकड़े जाने के डर से आरोपितों ने रेलवे ट्रैक पर गाड़ी चढ़ाकर ट्रैक पार करने की कोशिश की, लेकिन कार फंस गई। इसके बाद भीड़ ने गाड़ी पर पथराव किया। एसएचओ कविनगर नागेंद्र चौबे ने बताया कि लोगों ने एक चोर को दबोचकर पुलिस के सुपुर्द किया। वह विजयनगर का रहने वाला विजय वाल्मीकि है। उसके साथी की तलाश जारी है।

Leave a Reply