लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से भी हटाए गए चिराग पासवान

चिराग के समर्थकों का पटना के पार्टी दफ्तर में हंगामा

0 8

पटना। बिहार की राजनीति के लिए आज की सबसे बड़ी खबर आ गई है। चिराग पासवान को लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) संसदीय दल के अध्‍यक्ष पद के बाद पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष के पद से हाथ धोना पड़ गया है। लोजपा नेताओं ने सूरजभान को नया कार्यकारी अध्‍यक्ष बनाने का ऐलान कर दिया है।

सूरजभान लोजपा के पुराने साथी हैं, लेकिन लंबे समय से चुनावी राजनीति से बाहर हैं। हालांकि वे पार्टी के लिए रणनीति बनाने में हमेशा अहम भूमिका अदा करते रहे हैं। इससे पहले चिराग ने खुद ही राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष का पद छोड़ने का प्रस्‍ताव दिया था, लेकिन उन्‍होंने अपनी मां और दिवंगत नेता राम विलास पासवान की पत्‍नी रीना पासवान को राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष बनाने का प्रस्‍ताव दिया था।

लोजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक मंगलवार को संसदीय दल के नेता पशुपति कुमार पारस के आवास पर हुई। बैठक में सर्वसम्मति से चिराग पासवान को राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से मुक्त कर दिया गया। उनकी जगह सूरजभान सिंह को राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया गया। राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष को यह निर्देश दिया गया कि वह 5 दिन के अंदर राष्ट्रीय परिषद की बैठक बुलाएं। पार्टी पर अपना प्रभाव बनाए रखने की कोशिशों के तहत चिराग पासवान सोमवार को जब दिल्‍ली में अपने चाचा पशुपति कुमार पारस के घर पहुंचे थे। तब मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया कि वह एक प्रस्‍ताव लेकर गए थे जिसमें राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष पद से उनके इस्‍तीफे की पेशकश के साथ ही उनकी मां रीना पासवान को राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष बनाने की मांग शामिल थी।

लेकिन अपने चाचा के घर के बंद गेट पर न सिर्फ उन्‍हें 20 मिनट तक इंतजार कराया गया बल्कि डेढ़ घंटा इंतजार के बाद भी चाचा से मुलाकात नहीं हो सकी। जाहिर है पशुपति कुमार पारस को चिराग को छोड़कर पार्टी के सभी पांच सांसदों का समर्थन होने के चलते इस वक्‍त अपना पड़ला भारी लग रहा है।

वह किसी किस्‍म की सुलह-सफाई के पक्ष में नहीं हैं बल्कि पूरी तरह पार्टी पर काबिज होना चाहते हैं। चिराग के चचेरे भाई प्रिंस राज भी फिलहाल चाचा पारस के साथ हैं। ऐसे में चिराग पार्टी में बिल्‍कुल अकेले पड़ गए हैं।

वहीं, चिराग पासवान ने पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाई। पटना में चिराग के समर्थकों ने चाचा पशुपति कुमार पारस के खिलाफ नारेबाजी और हंगामा किया है। बताया जा रहा है कि चिराग के समर्थकों ने पशुपति पारस समेत सभी 5 सांसदों और नीतीश कुमार की तस्वीरें जलाईं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.