Saturday , October 1 2022
छत्तीसगढ़ : भेंट मुलाकात में CM बघेल ने की विकास घोषणाओं की बारिश
छत्तीसगढ़ : भेंट मुलाकात में CM बघेल ने की विकास घोषणाओं की बारिश

छत्तीसगढ़ : भेंट मुलाकात में CM बघेल ने की विकास घोषणाओं की बारिश

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से बीजापुर जिले में विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने भेंट की। मुख्यमंत्री ने महार, जैन, तेलगा एवं माहरा समाज के सामाजिक भवन निर्माण के लिए 15-15 लाख रुपए मंजूर किए। उन्होंने महार एवं मसीह समाज के सामाजिक भवन हेतु भूमि आवंटन की स्वीकृति दी। प्राथमिक वनोपज सहकारी समितियों के प्रबंधकों ने मानदेय वृद्धि करने के लिए सीएम को स्मृति चिन्ह भेंट कर उनके प्रति आभार जताया। मुख्यमंत्री ने अधिवक्ता संघ की मांग पर बीजापुर में आवश्यकता के अनुरूप नोटरी नियुक्त करने के निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने स्पष्ट की अपनी मंशा और बीजापुर की बेहतरी के लिए अधिकारियों को परिणामूलक कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि हमारा फोकस है लोगों की आय बढ़े,स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़े, शिक्षा की व्यवस्था हो। सीएम ने बीजापुर में सिंचाई सुविधाओं के विस्तार के लिए इन्द्रावती नदी में बड़े एनीकट निर्माण सहित भूजल स्तर को बढ़ाने और पेयजल आपूर्ति के लिए छोटे नदी-नालों में एनीकट, स्टॉपडेम आदि निर्माण हेतु प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने जल संरक्षण के लिए तालाबों के गहरीकरण एवं मरम्मत को प्राथमिकता देने और कुंआ निर्माण को बढ़ावा देने के निर्देश भी दिए। सीएम ने मद्देड़ में स्वामी आत्मानंद अंग्रेज़ी माध्यम स्कूल की घोषणा की। उन्होंने गर्ल्स मिडिल स्कूल बीजापुर,उन्नार मिडिल स्कूल के हाई स्कूल में उन्नयन, हाई स्कूल चेरपल्ली के हायर सेकंडरी स्कूल में उन्नयन की घोषणा भी की। मुख्यमंत्री ने घोषणा कि खेल सुविधाओं के विस्तार के लिए भोपालपटनम और नेमेड़ में बनेगा मिनी स्टेडियम। जनसुविधा के लिए आईटीआई बीजापुर से तुमनार तक 4 किमी सड़क का होगा उन्नयन। कईका में बनेगा नवीन उप स्वास्थ्य केंद्र।
मुख्यमंत्री ने बीजापुर जिले के सर्किट हाउस स्थल पर 121 करोड़ रुपए की लागत के 145 विकास कार्यों का लोकार्पण और 192 करोड़ रुपए की लागत के 322 कार्यों का भूमिपूजन किया। बीजापुर में जिला एवं सत्र न्यायलय की स्थापना होगी।
मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद मात्रात्मक त्रुटि वाली जनजातियों को पहली बार जाति प्रमाण पत्र जारी हो रहे हैं। मुख्यमंत्री ने बीजापुर में हितग्राहियों को हिंदी और अंग्रेज़ी में जनजाति के नाम के उल्लेख के साथ बने प्रमाण पत्र का वितरण किया।
सीएम ने ने गौठानों को रूरल इंडस्ट्रीयल पार्क के रूप में विकसित करने के निर्देश दिए। उन्होंने वनोपज प्रसंस्करण सहित गोबर के उत्पादों को बढ़ावा देने के भी निर्देश दिए।
सीएम ने कहा कि मिर्ची की खेती और साग-सब्जी की खेती को प्रोत्साहित करने की जरूरत है। उन्होंने फलों के उत्पादन के साथ कोदो-कुटकी एवं रागी की खेती के लिए किसानों को प्रेरित करने के निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री ने मल्लखंब राष्ट्रीय प्रतियोगिता के विजेता को सम्मानित किया। माड़िया जनजाति के राकेश ने राष्ट्रीय प्रतियोगिता जीती है। गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड्स में नामांकन प्रक्रिया पूर्ण कराने के लिए मुख्यमंत्री ने कलेक्टर को निर्देश दिए। नारायणपुर की बिटिया शैली को मुख्यमंत्री
ने बधाई दी। दसवीं कक्षा में नारायणपुर की रहने वाली शैली यादव ने 97.5 % अंक प्राप्त कर राज्य में 6th रैंक हासिल किया है। शैली ने मुख्यमंत्री को बताया कि वो साइंटिस्ट बनना चाहती है।
टॉपर टिनिशा को मुख्यमंत्री ने सम्मानित किया। 12 वीं की परीक्षा में नारायणपुर जिले में दूसरा स्थान हासिल करने वाली स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल नारायणपुर की छात्रा टिनिशा ने अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों का मान बढ़ाया।
मेधावी मुरलीधर का मुख्यमंत्री ने सम्मान किया। नारायणपुर के मुरलीधर पात्र ने 12वीं में 86.8 % अंक हासिल कर जिले में टॉप किया है। जाति के मुरलीधर खड़ी बहार गांव के रहने वाले हैं। मुख्यमंत्री ने इनके उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं।
मुख्यमंत्री ने नारायणपुर के छोटेडोंगर में देवगुड़ी में माता का दर्शन कर प्रदेशवासियों की खुशहाली का आशीर्वाद लिया। उन्होंने यहां आदिवासी संस्कृति एवं आस्था के केंद्र 104 घोटूल एवं 104 देवगुड़ियों के जीर्णोद्धार कार्य का भूमिपूजन किया। ग्रामीणों की मांग पर मुख्यमंत्री ने छोटे डोंगर में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोलने की घोषणा की। सीएम ने कहा कि वनांचल के युवाओं को मिलेगी तकनीकी शिक्षा” छोटेडोंगर में नवीन शासकीय आईटीआई की स्थापना की जायेगी।
मुख्यमंत्री ने छोटे डोंगर की जन-चौपाल में घोषणा की कि किसान भाईयों को उनकी मेहनत का सही मोल दिलाने कन्हारगांव, कोहकामेटा, सोनपुर, गढ़बेंगाल और कुकड़ाझोर में नवीन धान खरीदी केन्द्र खुलेंगे।